ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरपीएम और राष्ट्रपति से लगाई गुहार, तेरह साल बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय की निष्ठा को मिले चार गोल्ड मेडल

पीएम और राष्ट्रपति से लगाई गुहार, तेरह साल बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय की निष्ठा को मिले चार गोल्ड मेडल

Allahabad University इलाहाबाद विश्वविद्यालय की मेधावी छात्रा निष्ठा मिश्रा को तेरह साल बाद प्रधानमंत्री कार्यालय की दखल पर गोल्ड मेडल प्रदान किए गए। निष्ठा ने 2011 में बीए में टॉप किया था। स्नातक के त

पीएम और राष्ट्रपति से लगाई गुहार, तेरह साल बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय की निष्ठा को मिले चार गोल्ड मेडल
Anuradha Pandeyकार्यालय संवाददाता,प्रयागराजMon, 06 May 2024 07:05 AM
ऐप पर पढ़ें

इलाहाबाद विश्वविद्यालय की मेधावी छात्रा निष्ठा मिश्रा को तेरह साल बाद प्रधानमंत्री कार्यालय की दखल पर गोल्ड मेडल प्रदान किए गए। निष्ठा ने 2011 में बीए में टॉप किया था। स्नातक के तीनों विषयों में सर्वाधिक अंक प्राप्त किया था। इसके बाद निष्ठा ने इविवि से एमए अंग्रेजी साहित्य में प्रवेश लिया और 2013 में भी टॉपर रहीं। लगातार पांच साल सभी विषयों में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने के बाद भी निष्ठा को विश्वविद्यालय ने मेडल नहीं दिया था।

इस पर निष्ठा ने मेडल के लिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री कार्यालय से गुहार लगाई। प्रधानमंत्री कार्यालय के हस्तक्षेप के बाद शनिवार को निष्ठा को इविवि ने चार गोल्ड मेडल प्रदान कर सम्मानित किया। 2011 के बाद से तीन नियमित कुलपतियों ने चार्ज संभाला। इसके बाद दीक्षांत समारोह आयोजित किए गए। लेकिन इन समारोह में उसी सत्र के मेधावियों को मेडल प्रदान किए। जबकि पूर्व के मेधावियों को मेडल नहीं दिए गए। निष्ठा ने राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री कार्यालय से किए शिकायत में तर्क दिया था कि 2021 में आयोजित दीक्षांत समारोह में मेधावियों को पदक प्रदान किए गए थे तो पिछले वर्षों के बैकलॉग के मेधावियों को मेडल दिया जाना चाहिए।

निष्ठा मिश्रा ने मंत्रालय में और कुलपति से अपील की थी कि कन्वोकेशन नहीं होने के कारण उनको गोल्ड मेडल नहीं मिले हैं। उनकी अपील को ध्यान में रखते हुए कुलपति ने मेडल दिए जाने का आदेश दिया। कल परीक्षा नियंत्रक की ओर से उनको जीते गए मेडल प्रदान कर दिए गए हैं।-प्रो. जया कपूर, पीआरओ, इविवि।

Virtual Counsellor