ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरइलाहाबाद विश्वविद्यालय में कैसे होंगे दाखिले, आखिरकार यूनिवर्सिटी ने CUET को लेकर लिया अंतिम फैसला

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में कैसे होंगे दाखिले, आखिरकार यूनिवर्सिटी ने CUET को लेकर लिया अंतिम फैसला

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में 2024-25 शैक्षणिक सत्र में भी सीयूईटी के जरिए ही प्रवेश होंगे। विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी है। सीयूईटी यूजी के लिए 26 मार्च तक आवदेन कर सकते हैं।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में कैसे होंगे दाखिले, आखिरकार यूनिवर्सिटी ने CUET को लेकर लिया अंतिम फैसला
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,प्रयागराजThu, 29 Feb 2024 09:38 AM
ऐप पर पढ़ें

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में 2024-25 शैक्षणिक सत्र में भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के जरिए ही स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश होंगे। मंगलवार को सीयूईटी के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू होने के दूसरे दिन बुधवार को विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी है। पिछले दिनों कार्यपरिषद की बैठक में चर्चा हुई थी कि स्नातक में प्रवेश सीयूईटी के जरिए लिए जाए या विश्वविद्यालय प्रशासन अपने स्तर से प्रवेश परीक्षा कराए। इविवि की पीआरओ प्रो. जया कपूर का कहना है कि स्नातक प्रवेश सीयूईटी के माध्यम से ही होंगे।

पहले इविवि अपने स्तर से ही स्नातक में प्रवेश लेता था लेकिन सीयूईटी शुरू होने के बाद अखिल भारतीय स्तर पर प्रवेश प्रक्रिया शुरू हुई तो सत्र पिछड़ने लगा। जिन संस्थानों में प्रवेश के लिए हजारों छात्र लाइन लगाए रहते थे वहां सीधे प्रवेश लेने के बावजूद सैकड़ों सीटें खाली चली गईं। इसी का नतीजा है कि इविवि और संबद्ध महाविद्यालयों में स्नातक का सत्र काफी पिछड़ गया है। 

सीयूईटी आवेदन प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हो चुकी है और 26 मार्च को समाप्त होगी। केंद्रीय विश्वविद्यालय संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीयूसीईटी)-स्नातक की परीक्षा 15 से 31 मई तक हाइब्रिड मोड में प्रतिदिन दो या तीन पालियों में आयोजित की जाएगी और परीक्षा के परिणाम 30 जून को घोषित किए जाएंगे। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी(एनटीए) ने मंगलवार को इसकी घोषणा की।
    
स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए इस महत्वपूर्ण परीक्षा को 13 भाषाओं में 26 विदेशी शहरों सहित 380 शहरों में आयोजित किया जाएगा। शैक्षणिक सत्र 2024-25 के लिए सीयूईटी (स्नातक)- 2024 परीक्षा हाइब्रिड मोड में आयोजित की जाएगी। परीक्षा को कंप्यूटर-आधारित टेस्ट (सीबीटी) या पेन-पेपर तरीके से आयोजित करने का निर्णय एनटीए का होगा, जो विभिन्न कारकों को ध्यान में रखते हुए फैसला लेगा।
    
सीयूसीईटी-स्नातक परीक्षा देश भर के केंद्रीय विश्वविद्यालय या अन्य राज्य विश्वविद्यालयों, डीम्ड और निजी विश्वविद्यालयों में प्रवेश पाने के इच्छुक छात्रों को जगह-जगह भटकने के बजाए सिर्फ एक लिंक पर आवेदन करने का अवसर प्रदान करता है। सीयूसीईटी-स्नातक परीक्षा को वर्ष 2022 में पेश किया गया था। यह परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी, जिसमें अंग्रेजी, हिंदी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, मराठी, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलुगु और उर्दू शामिल है।  

अभ्यर्थियों को पिछली बार के विपरीत इस बार अधिकतम छह विषयों को चुनने की अनुमति दी जाएगी। अभ्यर्थियों की संख्या और विषय विकल्पों के आधार पर परीक्षा कई दिनों में दो या तीन पालियों में आयोजित की जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें