DA Image
23 अक्तूबर, 2020|1:37|IST

अगली स्टोरी

एकेटीयू के सिस्टम से भेजा गया था छात्र संगठन से जुड़ने का संदेश

aktu

एकेटीयू के ही सिस्टम से छात्रों को एक छात्र संगठन से जुड़ने का संदेश भेजा गया था। विश्वविद्यालय प्रशासन ने बुधवार को इसको स्वीकार किया है। प्रशासन का कहना है यह संदेश भूलवश चला गया। वहीं, अन्य छात्र संगठनों ने इसे सोची समझी रणनीति का हिस्सा बताया। समाजवादी छात्र सभा और एनएसयूआई ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर परिसर का राजनीतिकरण करने के आरोप लगाए हैं। 

समाजवादी छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह देव का कहना है कि विवि प्रशासन राजनीतिक विचारधारा को संरक्षण दे रहा है। एक सरकारी शैक्षणिक संस्थान के लिए यह अशोभनीय है। छात्र नेता पूजा शुक्ला ने विश्वविद्यालय को शैक्षिक संस्थान के नैतिक दायित्व का निर्वहन करने की नसीहत दी। एनएसयूआई के लालू कनौजिया ने विवि का राजनीतिकरण न करने की अपील की।

रात 1 बजे स्टूडेंट्स के मोबाइल पर आया मैसेज, सोशल मीडिया पर मच गई खलबली

एकेटीयू प्रशासन छात्रों तक संदेश पहुंचाने के लिए बल्क एसएमएस सेवा का इस्तेमाल करता है। विवि प्रशासन की ओर से भेजा ऐसा ही एक एसएमएस मंगलवार देर रात सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसमें एक छात्र संगठन से जुड़ने को कहा गया था। विवि के प्रवक्ता आशीष मिश्रा ने बताया कि तकनीकी खामियों के चलते ऐसा हुआ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:aktu message issue : message to join student union was sent from the AKTU system