DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  एकेटीयू : GATE और G-PET मेधावियों को टैबलेट मिले तो खिल उठे चेहरे

करियरएकेटीयू : GATE और G-PET मेधावियों को टैबलेट मिले तो खिल उठे चेहरे

कार्यालय संवाददाता,लखनऊPublished By: Alakha Singh
Fri, 11 Jun 2021 09:34 PM
एकेटीयू : GATE और G-PET मेधावियों को टैबलेट मिले तो खिल उठे चेहरे

कोरोना महामारी के दौरान आंशिक लॉकडाउन के खत्म होने के बाद डा. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) में किसी समारोह के रूप में रौनक देखने को मिली। एकेटीयू कुलपति प्रो विनय कुमार पाठक की अध्यक्षता में गेट और जी-पेट में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्राविधिक शिक्षा सचिव अलोक कुमार बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहे।

गेट और जी-पेट में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 40 विद्यार्थियों को टैबलेट प्रदान किया गया। इन विद्यार्थियों में आर्किटेक्चर के 2, बायोटेक्नोलॉजी के 1, सिविल इंजीनियरिंग के 2, केमिकल इंजीनियरिंग के 5, कंप्यूटर साइंस के 4, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के 5, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के 1, इलेक्ट्रिकल एंड इंस्ट्रूमेंटेशनल के 3, इंजीनियरिंग साइंस के 1, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के 2, मेकेनिकल इंजीनियरिंग के 6, टेक्सटाइल के 6 एवं फार्मेसी के 2 विद्यार्थी शामिल हैं। प्राविधिक शिक्षा सचिव अलोक कुमार ने कहा कि प्रतिभावान छात्रों का प्रोत्साहन शोध और नवाचार को बढ़ावा देने की मुख्य कड़ी है। उन्होंने कहा कि सामाजिक उत्थान एवं पुनर्वास के लिए शोध कार्यों को बढ़ावा देने की जरुरत है।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों की नवाचारों के प्रति अभिरुचि बढ़ाने के लिए विश्वविद्यालय के प्रत्येक सम्बद्ध संस्थान में इन्क्यूबेशन सेंटर की स्थापना के लिए प्रयास होंगे। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो विनय कुमार पाठक ने कहा कि समस्त राजकीय एवं घटक संस्थानों में गुणवत्तापूर्ण संकाय सदस्यों की नियुक्ति और इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास के उत्तर प्रदेश सरकार के कदम से प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण तकनीकी शिक्षा का लक्ष्य भेदने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि इसीका परिणाम है कि राष्ट्रीय स्तर की गेट और जी-पेट परीक्षाओं में विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया जा रहा है।

समारोह में प्रतिकुलपति प्रो विनीत कंसल, वित्त अधिकारी जीपी सिंह, परीक्षा नियंत्रंक प्रो राजीव कुमार, डीन डीएसडब्ल्यू प्रो ओपी सिंह, डीन एफओए प्रो वंदना सहगल, निदेशक यूपीटीटीआई, कानपुर प्रो जी नलेन किल्ली, पूर्व निदेशक यूपीटीटीआई, कानपुर प्रो मुकेश कुमार सिंह समेत अन्य शामिल रहे।

संबंधित खबरें