ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरAICTE : एकेटीयू से बीएमएस, बीबीए बीसीए की संबद्धता मिलेगी

AICTE : एकेटीयू से बीएमएस, बीबीए बीसीए की संबद्धता मिलेगी

ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन ने एकेटीयू लखनऊ को अपने संबंद्ध इंजीनियरिंग कॉलेजों को बीएमएस, बीबीए बीसीए जैसे कोर्सों की मान्यता देने के संबंध में फैसला किया है। विश्वविद्यालय अब एआईसीटीई से

AICTE : एकेटीयू से बीएमएस, बीबीए बीसीए की संबद्धता मिलेगी
Alakha Singhसंवाददाता,लखनऊFri, 29 Dec 2023 08:47 AM
ऐप पर पढ़ें

AKTU New Courses : एकेटीयू से अब प्रबंधन पाठ्यक्रमों की संबद्धता भी मिल सकेगी। इंजीनियरिंग कॉलेजों को दूसरे विश्वविद्यालय से संबद्धता लेने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। एआईसीटीई ने सत्र 2024-25 से स्नातक स्तर के पहली बार प्रबंधन पाठ्यक्रमों को भी संबद्धता देने का निर्णय लिया है। इससे पहले एआईसीटीई सिर्फ पीजी स्तर पर चलने वाले मैनेजमेंट कोर्सेज के लिए संबद्धता देता था। इस फैसले से विश्वविद्यालयों को बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए), बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस) और बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (बीसीए) की संबद्धता एआईसीटीई से लेनी पड़ेगी। जिससे इन कोर्सेज के लिए एकेटीयू से संबद्ध इंजीनियरिंग संस्थानों को किसी दूसरे विश्वविद्यालय से मान्यता नहीं लेना पडेगी।

अभी तक प्राविधिक विश्वविद्यालय से संबद्ध इंजीनियरिंग कॉलेजों व संस्थानों को उनके क्षेत्र में पडने वाले किसी राज्य विश्वविद्यालय से संबद्धता लेनी पडती थी। कुलपति प्रो. जेपी पांडेय ने बताया कि कॉलेजों को प्रबंधन पाठ्यक्रमों की संबद्धता देने के लिए एआईसीटीई से मंजूरी मिल गई है। एकेटीयू प्रशासन सत्र 2024-25 से विश्वविद्यालय स्तर पर बीबीए और बीसीए की मान्यता देना शुरू करेगा। मान्यता देने के लिए जरूरी गाइडलाइन बना ली गई हैं। जिसे मंजूरी के लिए शासन भेजा गया है।

प्रबंधन में तीन साल की संबद्धता देने की तैयारी
कुलपति प्रो. जेपी पांडेय का कहना है कि मैनेजमेंट के लिए कॉलेजों को तीन साल की संबद्धता देने की तैयारी है। इसका प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। उन्होंने कहा कि आमतौर पर कोई भी राज्य विश्वविद्यालय किसी भी कॉलेज को अधिकतम एक साल की संबद्धता देता है। प्रो. पांडेय के मुताबिक, शासन से मंजूरी मिलने के बाद एकेटीयू सभी संबद्धता वाले कॉलेजों को अधिकतम तीन साल मान्यता प्रदान करेगा। एकेटीयू से संबद्धता मिलने से संबद्ध इंजीनियरिंग संस्थानों और कॉलेजों को फायदा पहुंचेगा। अभी यूजी प्रबंधन पाठ्यक्रमों की राज्य विश्वविद्यालय से मान्यता लेनी होती है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें