ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरनई रिसर्च के अनुसार, जानें- कैसा नहीं होना चाहिए रिज्यूमे

नई रिसर्च के अनुसार, जानें- कैसा नहीं होना चाहिए रिज्यूमे

जो उम्मीदवार नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उनके पास एक अच्छा और प्रभावशाली रिज्यूमे का होना जरूरी है। आइए जानते हैं रिज्यूमे बनाते समय कौनसी गलती नहीं करनी चाहिए। यहां जानें कुछ जरूरी बातें।

नई रिसर्च के अनुसार, जानें- कैसा नहीं होना चाहिए रिज्यूमे
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 13 Apr 2024 03:48 PM
ऐप पर पढ़ें

किसी भी नौकरी को हासिल करने के लिए आपका रिज्यूमे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि आप अपना रिज्यूमे लिखने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) की मदद लेते हैं, तो आप नौकरी पाने की अपनी संभावनाओं को कम कर रहे हैं।

रिज्यूमे जीनियस के नए रिसर्च के अनुसार, नौकरी के लिए भर्ती करने वाले मैनेजर के लिए ऐसे रिज्यूमे 'रेड फ्लैग' की कैटेगरी में आ रहे हैं, जिनका रिज्यूमे एआई-जनरेटेड है। बता दें, रिज्यूमे जीनियस ने अमेरिका में 625 भर्ती हायरिंग मैनेजर का सर्वे किया है। जिसके माध्यम से पता चला कि वे किन बातों की वजह से किसी भी उम्मीदवार के रिज्यूमे को 'रेड फ्लैग' की कैटेगरी में रखते हैं। आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

सर्वे के दौरान पता चला कि भर्ती करने वाले आधे से अधिक (53%) मैनेजर का कहना है कि उन्हें एआई-जनरेटेड रिज्यूमे प्राप्त होते हैं। ये देखने में बनावटी और झूठे लगते हैं। भर्ती फर्म के एक डायरेक्टर मिशेल रीसडॉर्फ ने कहा, किसी भी रिज्यूमे को तैयार करते समय ये बेहद जरूरी है कि जब भी कोई आपके रिज्यूमे को देखें तो उसमें दी गई स्किल्स और एक्सपीरियंस की जानकारी सच्ची होनी चाहिए। यदि आप मिनटों में अपना रिज्यूमे लिखने के लिए AI का उपयोग करते हैं और पूरी तरह से उसके बनाए गए रिज्यूमे पर भरोसा करते हैं, तो यह बताता है कि आप अपनी नौकरी के लिए सीरियस नहीं है।
 
रीसडॉर्फ ने आगे कहा, वे AI के इस्तेमाल के सख्त खिलाफ नहीं है, उन्होंने बताया कि अभी भी नौकरी चाहने वालों को अपने रिज्यूमे का रिव्यू और एडिट के लिए AI का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं,  लेकिन पहले आपको ड्राफ्ट लिखना चाहिए।

वह आगे कहते हैं, "आप जो पहले ही लिख चुके हैं उसे प्रूफरीडिंग बनाने के लिए AI बहुत अच्छा है, लेकिन ये सही रिज्यूमे तैयार करने की गांरटी नहीं देता, आप इनसे थोड़ी बहुत मदद ले सकते हैं, लेकिन आंख बंद कर के भरोसा नहीं कर सकते। ऐसे में किसी भी उम्मीदवार को अपना रिज्यूमे बनाते समय मेहनत करनी चाहिए, आखिरकार ये आपकी नौकरी का सवाल है।

इसी के साथ आपको बता दें, नौकरी पर रखने वाले मैनेजर उस रिज्यूमे को भी  'रेड फ्लैग' की कैटेगरी में रखते हैं, जिन रिज्यूमे की खराब फॉर्मेटिंग होती है,  जिसमें वे लेआउट,फॉन्ट, स्पैलिंग समेत कई डिटेल्स को चेक करते हैं। रीसडॉर्फ का कहना है कि साफ, सरल रिज्यूमे सबसे प्रभावी होते हैं क्योंकि इन्हें किसी के लिए भी पढ़ना और समझना आसान होता है।

 

 

Virtual Counsellor