DA Image
22 नवंबर, 2020|11:55|IST

अगली स्टोरी

Admission 2020: डीयू में 24 साल बाद बढ़ेंगी वार्ड कोटा की सीटें

du admission quota for employees children

दिल्ली विश्वविद्यालय में शिक्षक व कर्मचारियों के बच्चों के लिए वार्ड कोटा की सीटें बढ़ाने पर विचार हो रहा है। ऐसा होने से डीयू के शिक्षक व कर्मचारियों के बच्चों का दाखिला आसान हो जाएगा। इसकी लंबे समय से शिक्षक व कर्मचारी मांग कर रहे थे। डीयू में 1996 के बाद कभी वार्ड कोटा की सीटें नहीं बढ़ीं। 

इसके लिए डीयू ने तीन प्रिंसिपल, चार विद्वत परिषद के सदस्य, एक डिप्टी डीन, एक ज्वाइंट रजिस्ट्रार तथा एक असिस्टेंट रजिस्ट्रार को शामिल कर 10 लोगों की समिति बनाई है। इस समिति के अध्यक्ष श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. जसविंदर सिंह हैं। यह समिति सीटों को बढ़ाने संबंधी सभी पहलुओं पर विचार करेगी। 

ज्ञात हो कि अभी डीयू के कॉलेजों में मात्र 6 वार्ड कोटा की सीटें हैं। इसमें तीन सीट कर्मचारियों के बच्चों के लिए तथा तीन सीट शिक्षकों के बच्चों के लिए हैं। 

डीयू के डीन ऑफ कॉलेजेज प्रो. बलराम पाणि का कहना है कि डीयू में वार्ड कोटा के तहत सीटें काफी कम हैं। मात्र छ सीटें एक कॉलेज में वार्ड कोटा के लिए हैं। इसमें तीन कर्मचारियों के और तीन शिक्षकों के हिस्से आती हैं। सीटों का यह मानदंड काफी पुराना है। इसलिए कर्मचारी व शिक्षकों की मांग थी कि इन सीटों की संख्या बढ़ाई जाए। संख्या को कितनी बढ़नी है, इसका आधार क्या होगा और अन्य मानकों को देखने के लिए एक समिति बनाई गई है कि जिसमें चुने हुए प्रतिनिधियों का भी प्रतिनिधित्व है। 

अब तक का क्या है प्रावधान
डीयू में अब तक इंटरनल दाखिला में शिक्षक को किसी तरह की परेशानी नहीं होती है। जैसे यदि राजधानी कॉलेज का शिक्षक है तो वह अपने बच्चे का राजधानी कॉलेज में दाखिला करा सकता है, लेकिन रामजस कॉलेज में दाखिला के लिए उसे वार्ड कोटा की जरूरत पड़ती थी। यह संख्या शिक्षक के बच्चों के लिए मात्र तीन थी। 

ये हैं समिति के सदस्य 
डॉ. जसविंदर सिंह, प्रिंसिपल श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज,(अध्यक्ष)
डॉ. मनोज सिन्हा, प्रिंसिपल, आर्यभट्ट कॉलेज
डॉ. स्वाति पाल, प्रिंसिपल,जानकी देवी मेमोरियल कॉलेज
डॉ. हनीत गांधी, डिप्टी डीन, एडमिशन
डॉ. नैना हसीजा, सदस्य, विद्वत परिषद
डॉ. ऋचा राज, सदस्य, विद्वत परिषद
डॉ. शंभूनाथ दुबे, सदस्य,विद्वत परिषद
सैकत घोष, सदस्य, विद्वत परिषद
रोहन राय, ज्वाइंट रजिस्ट्रार
डॉ. ओपी शर्मा, असिस्टेंट रजिस्ट्रार (संयोजक)

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Admission 2020: Ward quota seats will increase in DU after 24 years