अड़चन दूर: आयोग की लंबित भर्तियों के नतीजों ने पकड़ी रफ्तार - adchan door: aayog ki lambit bhartiyon ke natijon ne pakdi raftaar DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अड़चन दूर: आयोग की लंबित भर्तियों के नतीजों ने पकड़ी रफ्तार

uppsc

लोक सेवा आयोग के नए अध्यक्ष डॉ. प्रभात कुमार के पद संभालने के बाद से आयोग की लंबित भर्तियों के परिणाम लगातार घोषित किए जा रहे हैं। जिन सीधी भर्तियों के इंटरव्यू किसी अड़चन की वजह से नहीं हो पा रहे थे, उन अड़चनों को दूर कर नियमित इंटरव्यू भी कराए जा रहे हैं।

लंबित भर्तियों के परिणाम घोषित करने के लिए रविवार, द्वितीय शनिवार एवं अन्य सार्वजनिक अवकाश में भी आयोग दफ्तर खोला जा रहा है। कर्मचारियों की नियमित समयावाधि शाम 5 बजे से बढ़ाकर 7 बजे तक कर दी गई है। इस समयावधि में आयोग अध्यक्ष डॉ. कुमार और सचिव जगदीश भी दफ्तर में मौजूद रहते हैं। इसी का नतीजा है कि आयोग ने पीसीएस 2017 मेंस का परिणाम 14 माह बाद घोषित कर दिया। जबकि, इसी तरह की स्थिति पीसीएस 2016 मेंस के साथ भी थी, लेकिन उसका परिणाम दो साल बाद घोषित हो सका था। आयोग ने 2015 से लंबित सहायक वन संरक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का परिणाम तीन साल के बाद 22 अगस्त को घोषित किया।

2015 से लंबित चल रहे सहायक सांख्यिकी अधिकारी का इंटरव्यू करवाकर आयोग ने 7 सितंबर को पीसीएस 2017 के साथ इस भर्ती का अंतिम परिणाम भी घोषित कर दिया। 2013 से लंबित चल रहे राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय में प्रवक्ता समाजशास्त्र के दस, प्रवक्ता हिन्दी के 11,  2014 से लंबित डायट प्रवक्ता शारीरिक शिक्षा के 80 पदों समेत कई सीधी भर्तियों के इंटरव्यू करवाकर आयोग ने परिणाम घोषित किए हैं।

 

इनसे सीखें : आर्थिक तंगी से UPSC की कोचिंग न ले पाने वालों को मुफ्त क्लासेस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:adchan door: aayog ki lambit bhartiyon ke natijon ne pakdi raftaar