ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरछठी क्लास में पढ़ने वाले बच्चे का ऐसा IQ, अच्छे-अच्छे खा जाएंगे मात, आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग भी पीछे

छठी क्लास में पढ़ने वाले बच्चे का ऐसा IQ, अच्छे-अच्छे खा जाएंगे मात, आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग भी पीछे

यूके की इस छोटे से बच्चे ने कठिन परिश्रम और मेहनत के दम पर आईक्यू टेस्ट में कुल 162 अंक हासिल कर अल्बर्ट आइंस्टाइन और स्टीफन हॉकिंग के आईक्यू लेवल को पछाड़ दिया है।

छठी क्लास में पढ़ने वाले बच्चे का ऐसा IQ, अच्छे-अच्छे खा जाएंगे मात, आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग भी पीछे
Archana Pathakलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीMon, 14 Nov 2022 02:00 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

युसूफ शाह ने महज 11 साल की उम्र में अपने शानदार प्रदर्शन और टैलेंट की वजह से मशहूर वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीनऔर स्टीफन हॉकिंस को आईक्यू में पीछे छोड़ दिया है। रिपोर्ट की मानें तो यूके की इस छोटे से बच्चे ने कठिन परिश्रम और मेहनत के दम पर आईक्यू टेस्ट में कुल 162 अंक हासिल कर अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग के आईक्यू लेवल को पछाड़ दिया है।

 अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग ने आईक्यू टेस्ट में 160 अंक हासिल कर सबसे रिकॉर्ड दर्ज किया था। जिसे छठी क्लास में पढ़ने वाले 11 वर्षीय बच्चे ने तोड़ दिया है। युसूफ शाह विगटन मूर प्राइमरी स्कूल में क्लास सिक्स में पढ़ता है। यॉर्कशायर इवनिंग पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, 'स्कूल में पढ़ने वाला हर बच्चा सोचता है कि मैं बहुत स्मार्ट हूं और मैं हमेशा जानना चाहता हूं पर क्या मैं उन टॉप 2% में लोगों में से एक हूं, जो परीक्षा देते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक युसूफ शाह के परिवार ने फैसला लिया कि वह हाई स्कूल की परीक्षा के साथ ही साथ इस टेस्ट की भी तैयारी करेगा क्योंकि दोनों में लगभग समान चीजें पढ़नी पड़ती है। यूसुफ के पिता इरफान ने बताया कि तैयारी करने के लिहाज से यह एक मुश्किल टेस्ट है। लेकिन हम वही कर रहे थे। जो हम हमेशा से करते हैं हमने आइक्यू टेस्ट के लिए कोई खास तैयारी  नहीं कराई। लेकिन हमारे बच्चे के लिए यह जरूरी था कि वह लगातार मेहनत करता रहें।

यूसुफ के पिता ने आगे बात करते हुए कहा कि 'मैं आज भी उससे कहता हूं कि तुम्हारा पिता तुमसे ज्यादा समझदार है। हम इन बातों को खुले दिल से लेते हैं। भले ही तुम बहुत समझदार हो और टैलेंटेड हों। लेकिन फिर भी तुम्हें कठिन मेहनत करते रहना होगा।

 टेस्ट में यूसुफ को 3 मिनट में 15 सवालों के जवाब देने थे। लेकिन गलत सुन लिया कि उसके पास सवालों के जवाब देने के लिए कुल 13 मिनट है। जिसके बाद उसने जवाब देने में अपना समय लेते हुए। परीक्षा में बेहद अच्छा और शानदार प्रदर्शन किया। इसके बाद यह कहना गलत नहीं होगा कि विश्व को आइंस्टीन से भी अधिक आइक्यू वाला इंसान मिल चुका है।