Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़us federal reserve keep interest rates at 23 year high share market reacted like this

फेडरल रिजर्व की ब्याज दरें 23 साल के हाई लेवल पर, मार्केट का ऐसा रहा रिएक्शन

  • फेड ने प्रमुख बेंचमार्क ब्याज दरों को 5.25 से 5.50 पर्सेंट पर रखने का फैसला किया। इस पर अमेरिकी शेयर मार्केट का रिएक्शन मिलाजुला रहा। आज इसका प्रभाव घरेलू मार्केट में भी देखने को मिल सकता है।

Drigraj Madheshia नई दिल्ली, हिन्दुस्तान संवाददाताThu, 2 May 2024 07:15 AM
ट्रेड

अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने दो दिन की फेडरल ओपन मार्केट कमेटी की बैठक के बाद 1 मई को अपने तीसरे ब्याज दर के फैसले का ऐलान कर दिया। फेड ने सर्वसम्मति से प्रमुख बेंचमार्क ब्याज दरों को 5.25 से 5.50 पर्सेंट पर रखने का फैसला किया। इस पर अमेरिकी शेयर मार्केट का रिएक्शन मिलाजुला रहा। आज इसका प्रभाव घरेलू शेयर मार्केट में भी देखने को मिल सकता है।

अमेरिकी केंद्रीय बैंक ने जुलाई 2023 से अपनी ब्याज दर को 23 साल के उच्चतम स्तर पर बनाए रखा है और अब मुद्रास्फीति के कम होने तक इन दरों को ऊंचा रखने का संकेत दिया है। मार्च 2024 में हुई पिछली नीति बैठक में फेड के नीति निर्माताओं ने 2024 के लिए अमेरिकी मुख्य मुद्रास्फीति और अमेरिकी जीडीपी वृद्धि पूर्वानुमानों को भी थोड़ा बढ़ा दिया था।

फेड ने अपने बयान में कहा," समिति लंबी अवधि में दो प्रतिशत की दर से अधिकतम रोजगार और मुद्रास्फीति हासिल करना चाहती है। '' इसमें कहा गया है, ''आर्थिक दृष्टिकोण अनिश्चित है और समिति मुद्रास्फीति जोखिमों के प्रति अत्यधिक चौकस है।''

यूएस फेड नीति की 5 प्रमुख विशेषताएं

1.अमेरिका में ब्याज दरें 2 दशक के हाई लेवल पर

फेड ने मार्च 2022 के बाद से नीति दर में 5.25 फीसद की बढ़ोतरी करके एक आक्रामक मौद्रिक नीति सख्त चक्र शुरू किया। केंद्रीय बैंक ने पिछले जुलाई 2023 से अपनी नीति दर को मौजूदा सीमा में बनाए रखा है। फेड की दर बढ़ोतरी ने वार्षिक मुद्रास्फीति को जून 2022 में 9.1 प्रतिशत के शिखर से घटाकर 3.2 प्रतिशत करने में मदद की है।

2.मुद्रास्फीति कम होने तक दरों में कटौती नहीं

फेड ने कहा है कि पिछले साल मुद्रास्फीति कम हुई है, लेकिन ऊंची बनी हुई है। फेड ने अपने बयान में कहा, ''आर्थिक दृष्टिकोण अनिश्चित है और समिति मुद्रास्फीति जोखिमों के प्रति अत्यधिक चौकस है।''

क्यों बढ़ रहा जीएसटी कलेक्शन? सरकार का खजाना इतना भरा कि टूट गए सारे रिकॉर्ड

3. फेड जून से यह करेगा

अमेरिकी केंद्रीय बैंक ने यह भी घोषणा की कि वह 1 जून से अपनी बैलेंस शीट को कम करने की गति को कम कर देगा, जिससे ट्रेजरी बांड में मौजूदा 60 अरब डॉलर की तुलना में हर महीने केवल 25 बिलियन डॉलर ही निकल सकेंगे। केंद्रीय बैंक जून 2022 से अपनी हिस्सेदारी कम कर रहा है। इसने धीरे-धीरे ट्रेजरी और बंधक बांडों की संयुक्त राशि को बढ़ाकर प्रति माह कुल $95 बिलियन तक पुनर्निवेश किए बिना समाप्त कर दिया।

4.मार्च नीति फैसले से फेड के आर्थिक अनुमान

फेड नीति निर्माताओं ने अपने आर्थिक पूर्वानुमानों को अपडेट किया था। इस वर्ष के लिए अमेरिकी ग्रोथ आउटलुक को दिसंबर में 1.4 फीसदी से तेजी से बढ़ाकर 2.1 प्रतिशत कर दिया था।मार्च में यूएस फेड ने कहा, "आर्थिक गतिविधि ठोस गति से बढ़ रही है। नौकरी में बढ़ोतरी मजबूत बनी हुई है और बेरोजगारी दर कम बनी हुई है।"

 

5.पॉवेल की टिप्पणी पर वॉल स्ट्रीट का रिएक्शन

फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल ने कहा कि केंद्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरें बढ़ाने की "संभावना नहीं" है, जिसके बाद बुधवार दोपहर वॉल स्ट्रीट के शेयरों में तेजी आई। बाद में अमेरिकी बाजार के दो प्रमुख इंडेक्स लाल और एक हरे निशान पर बंद हुआ।

डॉऊ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज 0.23 प्रतिशत बढ़कर 37903 के लेवल पर बंद हुआ। जबकि, एसएंडपी 500 एमें 0.34 पर्सेंट की गिरावट आई और यह लाल निशान के साथ 5018 पर बंद हुआ। नैस्डैक कंपोजिट इंडेक्स भी 0.33 प्रतिशत टूटकर 15605 पर बंद हुआ।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें