Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़This penny stock continously down lower circuit after nse says trading closed from june

जून से बंद हो जाएगी इस शेयर की ट्रेडिंग, लगातार लग रहा लोअर सर्किट, ₹11 पर आ गया शेयर

  • Brightcom Group share: नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) की कार्रवाई के बाद ब्राइटकॉम ग्रुप ने कंपनी के तिमाही नतीजों के बारे में स्पष्टीकरण जारी किया है।

Varsha Pathak लाइव हिन्दुस्तानThu, 16 May 2024 03:25 PM
ट्रेड

Brightcom Group share: नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) की कार्रवाई के बाद ब्राइटकॉम ग्रुप ने कंपनी के तिमाही नतीजों के बारे में स्पष्टीकरण जारी किया है। ब्राइटकॉम ग्रुप ने स्टॉक एक्सचेंजों को स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा है कि वह वित्तीय वर्ष 2024 की दूसरी और तीसरी तिमाही के अपने तिमाही नतीजे 11 जून तक घोषित करने की दिशा में काम कर रहा है।

गुरुवार को अपनी स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में ब्राइटकॉम ग्रुप ने कहा कि हमारी टीम निर्धारित समयसीमा के भीतर तिमाही नतीजों को अंतिम रूप देने और जारी करने के लिए लगन से काम कर रही है। समूह ने यह भी कहा कि वे इन समयसीमाओं का पालन करके ट्रेडिंग सस्पेंशन से बचने के लिए आश्वस्त हैं।

लगातार शेयर में लोअर सर्किट

हाल ही में NSE ने एक सर्कुलर जारी कर बताया है कि ब्राइटकॉम ग्रुप के शेयरों में ट्रेडिंग 14 जून, 2024 से निलंबित कर दी जाएगी। इस सर्कुलर के बाद ब्राइटकॉम ग्रुप के शेयर में लगातार गिरावट आ रही है। बीते बुधवार को 5% के लोअर सर्किट के बाद गुरुवार को भी इस शेयर में 5% की गिरावट आई और भाव लुढ़क कर 11.66 रुपये पर आ गया। यह शेयर के 52 हफ्ते का निचला स्तर भी है। वहीं, जून 2023 में शेयर की कीमत 36.82 रुपये पर पहुंच गई थी। यह शेयर के 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर है।

दिग्गज निवेशक की है हिस्सेदारी

शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक शंकर शर्मा के पास दिसंबर तिमाही के अंत में ब्राइटकॉम ग्रुप में 1.14% हिस्सेदारी थी। 31 दिसंबर तक शंकर शर्मा के अलावा 5.7 लाख खुदरा निवेशकों के पास ब्राइटकॉम ग्रुप के शेयर थे।

खुलते ही इस IPO पर टूट पड़े निवेशक, ग्रे मार्केट में तूफानी तेजी, 21 मई तक मौका

लिस्टिंग पर किया था मायूस, अब शेयर खरीदने की मच गई लूट, ₹355 के पार पहुंचा भाव

सेबी ने की थी कार्रवाई

अगस्त 2023 में सेबी ने ब्राइटकॉम ग्रुप पर सख्ती दिखाई थी। इसके बाद ग्रुप के चेयरमैन सुरेश रेड्डी और CFO नारायण राजू को पद से हटा दिया। वहीं, सेबी ने ब्राइटकॉम ग्रुप पर कार्रवाई में ढील देने से इनकार किया था। बता दें कि प्रेफरेंशियल बेस पर शेयरों के किए गए अलॉटमेंट में अनियमितता से जुड़े मामले में सेबी ने कार्रवाई की थी।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें