Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़टैक्स सलाहNew income tax return forms available for fy 2023 24 detail is here

टैक्सपेयर के लिए बड़ी खबर: आ गए ये 3 फॉर्म, फटाफट निपटा लें अपना काम

  • बता दें कि ई-फाइलिंग पोर्टल 1 अप्रैल, 2024 से शुरू हो चुका है। इसका मतलब है कि पात्र टैक्सपेयर्स अब इन फॉर्मों का उपयोग करके वित्त वर्ष 2023-24 के लिए अपना टैक्स रिटर्न दाखिल कर सकते हैं।

Deepak Kumar नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीमTue, 2 April 2024 07:03 PM
पर्सनल लोन

New Income Tax Return Forms: अगर आप टैक्सपेयर्स हैं तो ये खबर आपके काम की है। दरअसल, आयकर विभाग ने वित्त वर्ष 2023-24 (AY 2024-25) के लिए ऑनलाइन टैक्स रिटर्न फॉर्म- ITR-1, ITR-2 और ITR-4 उपलब्ध करा दिए हैं। बता दें कि ई-फाइलिंग पोर्टल 1 अप्रैल, 2024 से शुरू हो चुका है। इसका मतलब है कि पात्र टैक्सपेयर्स अब इन फॉर्मों का उपयोग करके वित्त वर्ष 2023-24 के लिए अपना टैक्स रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। वित्त वर्ष 2023-24 (AY 2024-25) के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2024 है।

बता दें कि आयकर विभाग ने पहले ITR-1, ITR-2 और ITR-4 की ऑफलाइन एक्सेल यूटिलिटी जारी की थीं। वित्त वर्ष 2023-24 के लिए ITR-1, ITR-2, ITR-4 और ITR-6 के लिए ऑफलाइन JSON यूटिलिटी भी जारी की गई हैं। JSON यूटिलिटी एक फाइल फाइल फॉर्मेट है।

7 तरह के फॉर्म

इंडिविजुअल्स, बिजनेस और कंपनियों के लिए आईटीआर 1 (सहज), आईटीआर 2, आईटीआर 3, आईटीआर 4, आईटीआर 5, आईटीआर 6 और आईटीआर 7 के कुल 7 तरह के आईटीआर फॉर्म हैं। आईटीआर 1 उन इंडिविजुअल्स के लिए मूल आईटीआर फॉर्म है जिनकी वेतन, एक घर की संपत्ति, आय के अन्य स्रोत जैसे ब्याज, पारिवारिक पेंशन आदि और कृषि आय से कुल कमाई 50 लाख रुपये तक है। यह फॉर्म ज्यादातर नौकरीपेशा लोगों की जरूरतों को पूरा करता है।

ITR के अन्य फॉर्म की डिटेल

यह फॉर्म उन व्यक्तियों और हिंदू अविभाजित परिवार (एचयूएफ) के लिए है जो ITR-1 के अंतर्गत नहीं आते हैं। यदि व्यक्ति/एचयूएफ के पास लाभ, पेशे या व्यवसाय के लाभ के तहत आय नहीं है तो वह ITR-2 का उपयोग करेगा। वहीं, ITR-3 का उपयोग उन व्यक्तियों या हिंदू अविभाजित परिवारों द्वारा किया जा सकता है जिनकी आय कारोबार के तहत आती है और जो फॉर्म ITR-1, ITR-2 दाखिल करने के पात्र नहीं हैं।

इसी तरह, ITR-4 व्यक्तियों, हिंदू अविभाजित परिवारों (एचयूएफ) और फर्मों (एलएलपी के अलावा) द्वारा दाखिल किया जा सकता है जिनकी कुल आय 50 लाख रुपये तक है और जिनकी आय व्यवसाय और पेशे से है। ITR-5 फॉर्म फर्मों, व्यक्तियों के निकाय (बीओआई), एसोसिएशन ऑफ पर्सन्स (एओपी), जैसे निकायों के लिए उपयुक्त है। ITR- 6 फॉर्म कुछ अलग कैटेगरी के कंपनी द्वारा दाखिल किया जाना है। इसी तरह, आईटीआर 7 कुछ शर्तों के साथ फर्म, कंपनियां, स्थानीय प्राधिकरण आदि दाखिल करने के लिए पात्र हैं।

लेटेस्ट   Hindi News,   बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक ,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें