you have more than two account keep these points in mind to safe account - आपके भी हैं 1 से ज्यादा अकाउंट, तो रखें इन बातों का ध्यान- वर्ना कट जाएंगे सारे पैसे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपके भी हैं 1 से ज्यादा अकाउंट, तो रखें इन बातों का ध्यान- वर्ना कट जाएंगे सारे पैसे 

sbi so recruitment 2019 notification

अक्सर लोगों के 2 या इससे ज्यादा सेविंग्स अकाउंट होते हैं। बार-बार नौकरी बदलने, एक शहर से दूसरे शहर में नौकरी बदलने पर जाने और कई बार बिजनेस की जरूरतों के कारण 2 से ज्यादा बैंक अकाउंट खोल लेते हैं। कई बार हम एक से ज्यादा बैंक अकाउंट में पैसा रखना बेहतर मानते हैं क्योंकि इससे एटीएम ट्रांजेक्शन करने के लिए ज्यादा ऑप्शन मिल जाते हैं। ज्यादातर सभी लोग मल्टीपल बैंक अकाउंट होना फायदे का सौदा मानते हैं लेकिन इसकी वजह से आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। 

मल्टीपल बैंक अकाउंट के फायदे 
- बैंक के दिवालिया होने पर केवल 1 लाख रुपये का डिपॉजिट ही सिक्योर होना भी एक वजह है। यानी कोई भी बैंक आपके केवल 1 लाख रुपये तक के डिपॉजिट की ही गारंटी लेता है। ऐसे में लोग कई सेविंग्स अकाउंट में छोटी-छोटी जमा रखना बेहतर समझते हैं। 
मल्टीपल बैंक अकाउंट के नुकसान

मिनिमम बैलेंस रखना
मल्टीपल अकाउंट्स का सबसे पहला नुकसान यह है कि कस्टमर को हर अकाउंट में न्यूनतम मासिक औसत बैलेंस रखना होता है। ऐस नहीं करने पर बैंक चार्ज वसूलता है। ये नियम सभी सेविंग अकाउंट पर लागू होता है। ऐसे में आप जो अकाउंट इस्तेमाल नहीं होता उसमें न्यूनतम बैलेंस रखना मुश्किल हो जाता है।  

इनकम टैक्सं रिटर्न फाइलिंग 
आपको अपने सभी बैंक अकाउंट की डिटेल्स इनकम टैक्स रिटर्न में देनी होती है। ऐसा नहीं करने पर आयकर विभाग ये मानता है कि आप टैक्स चोरी कर रहे हैं। फिर आपको आयकर विभाग के नोटिस का सामना करना पड़ सकता है। 

डेबिट कार्ड चार्ज 
2 से ज्यादा बैंक अकाउंट होने पर सभी डेबिट कार्ड का पिन नंबर और नेट बैंकिंग का पासवर्ड याद रखना मुश्किल होता है। कई बार दोबारा पिन जनरेट करने पर बैंक चार्जेस लेते हैं। 

ट्रांजेक्शन नहीं होने पर अकाउंट डारेमेंट हो जाता है
अगर आपने बैंक अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस बनाया हुआ है लेकिन आपने लंबे समय तक अकाउंट में कोई भी ट्रांजेक्शन नहीं की है तो अकाउंट डोरमेंट हो जाता है। दोबारा उस अकाउंट को एक्टिव करने के लिए पूरे प्रोसेस को फॉलो करना होता है। 
UIDAI ने बदले आधार में नाम-जन्मतिथि बदलने के नियम, जानें कितने कम कर दिए मौके

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:you have more than two account keep these points in mind to safe account