Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Yearender 2023 Mutual funds made huge profits for the investors see which fund gave how much return

Yearender 2023: म्यूचुअल फंड ने निवेशकों को कराई तगड़ी कमाई, देखें किस फंड ने कितना दिया रिटर्न

Yearender 2023:स्मॉल कैप फंड्स ने इस साल सबसे अधिक 34.29 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है। वहीं, शेयर बाजार की बात की जाए तो सेंसेक्स ने 19 प्रतिशत और निफ्टी ने 18 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है।

Drigraj Madheshia नई दिल्ली, एजेंसी।, Mon, 25 Dec 2023 08:17 AM
पर्सनल लोन

Yearender: साल 2023 में म्यूचुअल फंड ने निवेशकों को मोटा मुनाफा दिया है। इसके साथ ही म्यूचुअल फंड उद्योग की परिसंपत्ति आधार में नौ लाख करोड़ रुपये और निवेशकों की संख्या में दो करोड़ से अधिक की वृद्धि हुई है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह इजाफा एक उत्साही शेयर बाजार, स्थिर ब्याज दरों और मजबूत आर्थिक विस्तार से प्रेरित है। उन्होंने कहा कि सकारात्मक गति अगले वर्ष भी जारी रहनी चाहिए।

किस फंड ने कितना रिटर्न दिया

स्मॉल कैप फंड्स ने इस साल सबसे अधिक 34.29 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है। मिड कैप फंड्स ने 30.77 फीसदी रिटर्न दिया है। वहीं, लार्ज कैप फंड्स ने साल 2023 में औसतन 16.15 फीसद का सालाना रिटर्न दिया है। जबकि, शेयर बाजार की बात की जाए तो सेंसेक्स ने 19  और निफ्टी ने 18 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है।

एसआईपी पर भरोसा बढ़ा

म्यूचुअल फंड निकाय एम्फी के आंकड़ों के अनुसार, एसआईपी के जरिए निवेश करना निवेशकों को काफी पसंद आ रहा है। वर्ष 2023 के पहले 11 महीनों में निवेश बढ़कर 1.66 लाख करोड़ रुपये हो गया है। इस साल के सिर्फ 11 महीनों में कुल निवेश 2022 में 1.5 लाख करोड़ 2021 में 1.14 लाख करोड़ और 2020 में 97000 करोड़ रुपये से कहीं अधिक है।

म्यूचुअल फंड उद्योग उड़ान पर: आंकड़ों के अनुसार, म्यूचुअल फंड उद्योग का एयूएम दिसंबर, 2022 के अंत में 40 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 2023 में नवंबर के अंत तक 49 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। दिसंबर, 2021 के अंत में परिसंपत्ति आधार 37.72 लाख करोड़ रुपये और दिसंबर 2020 में 31 लाख करोड़ रुपये था। उद्योग के एयूएम में लगातार 11वीं वार्षिक वृद्धि हुई है। इस साल वृद्धि को इक्विटी योजनाओं में प्रवाह, खासकर एसआईपी के माध्यम से समर्थन मिला है।

आईपीओ से जुटाए 52000 करोड़ रुपये

वर्ष 2023 में आईपीओ के जरिये जुटाई जाने वाली राशि सालाना आधार पर मामूली रूप से घटकर 52,000 करोड़ रुपये रही। हालांकि, इस दौरान निर्गमों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई। विशेषज्ञों के मुताबिक वर्ष 2024 में भी आईपीओ बाजार की मजबूती बने रहने का अनुमान है। उद्योग के आंकड़ों के अनुसार इस साल 58 कंपनियां अपना आईपीओ लाईं और उन्होंने 52,637 करोड़ रुपये जुटाए। पिछले साल 40 कंपनियों ने आईपीओ के जरिये 59,302 करोड़ रुपये जुटाए थे। 

 बजट 2024 जानेंHindi News  ,  Business News की लेटेस्ट खबरें, इनकम टैक्स स्लैब Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें
Advertisement