Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसउड़ान के दौरान विमान में मिलेगी वाई-फाई की सुविधा, एयरलाइन कंपनियों को केंद्र सरकार ने दी इजाजत

उड़ान के दौरान विमान में मिलेगी वाई-फाई की सुविधा, एयरलाइन कंपनियों को केंद्र सरकार ने दी इजाजत

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीDrigraj
Mon, 02 Mar 2020 12:21 PM
उड़ान के दौरान विमान में मिलेगी वाई-फाई की सुविधा, एयरलाइन कंपनियों को केंद्र सरकार ने दी इजाजत

अब उड़ान के दौरान मिलेगी वाई-फाई की सुविधा। मोदी सरकार ने एयरलाइन कंपनियों को इसकी इजाज दी है। भारत में उड़ान के दौरान विमान में वाई-फाई सेवाएं मुहैया कराने की घोषणा पिछले महीने टाटा समूह की कंपनी नेल्को और पैनासॉनिक एवियॉनिक्स कॉरपोरेशन ने की थी। उस समय बताया गया था कि विस्तारा एयरलाइंस के साथ इस सेवा की शुरुआत की जाएगी। बता दें विस्तारा टाटा समूह और सिंगापुर एयरलाइंस की संयुक्त कंपनी है। 

यह भी पढ़ें: भारतीय रेलवे का चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स ने बना दिया यह विश्व रिकॉर्ड

इसको लेकर नेल्को के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ( CEO ) पीजे नाथ ने कहा है कि, 'हम यह बताकर उत्साहित हैं कि नेल्को देश में लंबे समय से प्रतीक्षित उड़ान ब्रॉडबैंड सेवाओं की शुरुआत कर रही है। विस्तारा इस सेवा से जुड़ने वाली पहली विमानन कंपनी है।' इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नेल्को ने इस बाबत पैनासोनिक एवियॉनिक्स कॉरपोरेशन की एक अनुषंगी के साथ साझेदारी की है। बता दें दिसंबर 2019 में खबर आई थी कि विस्तारा में जनवरी से यात्रियों को इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी मिलने लगेगी। 

यह भी पढ़ें: पैन से आधार नहीं लिंक करने पर लग सकता है 10000 रुपये का जुर्माना

नेल्को एक वीसैट सेवा प्रदाता कंपनी है, जिसको सरकार से वीसैट लिंक मिल गया है। मोदी सरकार ने विस्तारा को स्पेक्ट्रम भी दे दिया है। डेटा मिलने से भी यात्री व्हाट्सएप जैसे एप का इस्तेमाल फोन कॉल करने के लिए कर सकते हैं। दरअसल मई 2018 से पहले भारतीय हवाई क्षेत्र में उड़ने वाले प्रत्येक विमान को डाटा या फोन सेवा की मंजूरी नहीं थी। यात्रा के वक्त यात्रियों को अपना मोबाइल फोन बंद करके या फिर फ्लाइट मोड पर रखना होता था। यह नियम विदेश से आने वाली उड़ानों पर भी लागू था, हालांकि अब दूरसंचार विभाग ने पहले लगाई रोक को हटा लिया है। 

वाई-फाई का इस्तेमाल करने की शर्त

यह भी शर्त रखी गयी है कि वाई-फाई का इस्तेमाल करने के दौरान भी यात्री अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, जैसे लैपटॉप, टैबलेट, स्मार्टफोन, स्मार्टवाच, ई-रीडर आदि को “फ्लाइट” या “एरोप्लेन” मोड में ही रखेंगे। अधिसूचना में कहा गया है कि उड़ान के दौरान वाई-फाई का इस्तेमाल तभी हो सकेगा जब नागर विमानन महानिदेशालय इसके लिए विमान को सत्यापित करता है।

epaper

संबंधित खबरें