अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थोक मुद्रास्फीति सात महीने के सबसे निचले स्तर पर, वस्तुओं के दाम घटे

थोक मुद्रास्फीति की दर में गिरावट

खाद्य वस्तुओं और सब्जियों की कीमत में नरमी के कारण थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति फरवरी में सात महीने के निचले स्तर2.48  प्रतिशत पर आ गयी है। जबकि जनवरी में थोक मुद्रास्फीति2.84  प्रतिशत और फरवरी2017  में5.51  प्रतिशत थी। फरवरी में थोक मुद्रास्फीति का2.48  प्रतिशत पर रहना सात माह का निम्न स्तर है। पिछला निम्न स्तर जुलाई में1.88  प्रतिशत दर्ज किया गया था।

बुधवार को जारी सरकारी आंकड़ों के मुताबिक,  खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति फरवरी में गिरकर0.88  प्रतिशत पर आ गयी है,  जनवरी में थोक खाद्य मुद्रास्फीति3  प्रतिशत थी। आलोच्य माह में सब्जियों की मुद्रास्फीति में नरमी रही। सब्जियों की थोक मुद्रास्फीति फरवरी में 15.26  प्रतिशतरही  जो जनवरी में40.77  प्रतिशत थी। फरवरी में  दाल- दलहनों केदाम पिछले साल की तुलना में 24.51  प्रतिशतनीचे चल रहे थे।  इसी तरह मोटे अनाज और गेहूंके दामों  में भी नरमी रही। अंडे,  मांस और मछली की थोक कीमतों में भी गिरावट रही।

आंकड़ों के मुताबिक,  ईंधन और बिजली वर्ग में भी फरवरी में मुद्रास्फीति नरम होकर3.81  प्रतिशतरही। जनवरी में इस वर्ग की मुद्रास्फीति 4.08  प्रतिशत थी। विमिर्मित वस्तुओंके  वर्ग में कीमत मेंसालाना आधार पर  वृद्धिकी दर  जनवरी के मुकाबले फरवरी में अधिक रही। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय( सीएसओ)  केकल जारी  आंकड़ों के मुताबिक फरवरी में खुदरा मुद्रास्फीति गिरकर चार महीने के निचले स्तर4.44  प्रतिशत पर थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:wholesale price inflammation at the lowest rate of seven months