wholesale price index remain unchanged in August month compare to July month - आम लोगों को मिली महंगाई से राहत, अगस्त में 1.08 फीसदी रही थोक महंगाई दर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आम लोगों को मिली महंगाई से राहत, अगस्त में 1.08 फीसदी रही थोक महंगाई दर

Declining food prices pulled down wholesale inflation. Photo: Mint

अगस्त 2019 की थोक महंगाई दर में जुलाई की तुलना में कोई बदलाव नहीं हुआ। अगस्त में थोक महंगाई दर 1.08 फीसदी रही। जबकि, पिछले साल इसी महीने अगस्त 2018 में थोक महंगाई दर 4.62 फीसदी थी। बाजार में आवक बनी रहने से अगस्त 2019 में थोक मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति की दर पिछले महीने के मुकाबले 1.08 प्रतिशत पर स्थिर दर्ज की गयी है।
 

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को यहां जारी आंकड़ों में बताया कि अगस्त 2018 में थोक मुद्रास्फीति की दर 4.62 प्रतिशत रही थी। जुलाई 2019 में थोक मुद्रास्फीति की दर 1.08 प्रतिशत दर्ज की गयी थी। चालू वित्त वर्ष में अगस्त तक  बिल्डअप मुद्रास्फीति की दर 1.25 प्रतिशत रही है। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह आंकडा 3.27 प्रतिशत रहा था।
 

हालांकि साग सब्जियों के दाम बढने के कारण अगस्त 2019 में खाद्य पदार्थों की थोक मुद्रास्फीति 5.75 प्रतिशत हो गयी है जबकि जुलाई 2019 में यह 4.54 प्रतिशत रही थी। खाद्य वस्तु समूह के पान पत्ता, मसाले और ज्वार के दाम चार प्रतिशत बढ़े हैं। रागी, जौ, फल और सब्जी एवं सूअर का मांस तीन प्रतिशत, मछली, गेंहू, अरहर, मक्का और गाय एवं भैंस का मांस दो प्रतिशत, समुद्री मछली, दूध, मटर फली, राजमा, धान और बकरे का मांस एक प्रतिशत बढ़ा है। हालांकि इसी समूह के अंडा, सात प्रतिशत, चाय, मुर्गे का मांस और चना के दाम एक एक प्रतिशत गिरे हैं।
 

विनिर्मित खाद्य उत्पाद समूह में खोई छह प्रतिशत, विनिर्मित पोषक तत्व पांच प्रतिशत, चावल छिलका तेल एवं मसाला एवं मसाला चार प्रतिशत, मैदा और सरसों तेल तीन प्रतिशत, मक्खन, सूजी, चीनी, सूरजमुखी तेल, मूंगफली तेल, नमक दो प्रतिशत, बिनौला तेल, आइसक्रीम, आटा, सूखा दूध, पाम तेल, इंस्टेंट काफी, पशु आहार, सूखी मछली, चावल, घी, अरंडी तेल और सोयाबीन तेल के दाम एक प्रतिशत गिरे हैं।
 

गैर खाद्य वस्तु समूह के तिल चार प्रतिशत, सूरजमुखी तीन प्रतिशत, नारियल, मूंगफली दो  प्रतिशत, जूट, सरसों और सोयाबीन के दाम एक प्रतिशत नीचे आयें हैं। हालांकि इसी वर्ग में कच्ची खाल, कच्ची रबड़, कच्ची कपास और चारा के दाम एक प्रतिशत बढ़े हैं।
अगस्त 2019 में प्राकृतिक गैस के दाम तीन प्रतिशत और कच्चे तेल के दाम एक प्रतिशत बढ़े हैं। फरनेस तेल चार प्रतिशत, विमान ईंधन और मिट्टी तेल तीन प्रतिशत ऊंचे रहे हैं। रसोई गैस के दाम 11 प्रतिशत, और पेट्रोलियम कोक के दाम दो प्रतिशत कम हुए हैं।


अर्थव्यवस्था में मंदी : सरकारी घोषणाओं को तेजी से लागू करने की दरकार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:wholesale price index remain unchanged in August month compare to July month