ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसBharat Bandh: सरकार की नीतियों के खिलाफ दो दिन 'भारत बंद', जानें क्या होगा आप पर असर

Bharat Bandh: सरकार की नीतियों के खिलाफ दो दिन 'भारत बंद', जानें क्या होगा आप पर असर

हड़ताल का आह्वान कोयला, इस्पात, तेल, दूरसंचार, डाक, आयकर, तांबा, बैंक और बीमा सहित क्षेत्रों के श्रमिक संघों ने किया है। ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस के अनुसार, हड़ताल में औपचारिक और अनौपचारिक

Bharat Bandh: सरकार की नीतियों के खिलाफ दो दिन 'भारत बंद', जानें क्या होगा आप पर असर
Drigraj Madheshiaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 28 Mar 2022 09:13 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

हड़ताल का आह्वान कोयला, इस्पात, तेल, दूरसंचार, डाक, आयकर, तांबा, बैंक और बीमा सहित क्षेत्रों के श्रमिक संघों ने किया है। ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस के अनुसार, हड़ताल में औपचारिक और अनौपचारिक दोनों क्षेत्रों के 20 करोड़ से अधिक श्रमिकों की भागीदारी की उम्मीद है।
 

केंद्रीय ट्रेड यूनियनों का एक संयुक्त मंच केंद्र सरकार की कई नीतियों के खिलाफ 28 और 29 मार्च को दो दिवसीय भारत बंद (राष्ट्रव्यापी बंद) का आह्वान कर रहा है। संयुक्त मंच में ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (AITUC), इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (INTUC), सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन्स (CITU), ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर (AIUTUC), ट्रेड यूनियन कोऑर्डिनेशन सेंटर सहित कई ट्रेड यूनियन शामिल हैं। 

फर्जी मूवर्स-पैकर्स से सावधान, बीच रास्ते में बिक जाएगा आपके घर का सारा सामान

इनके अलावा (टीयूसीसी), स्व-नियोजित महिला संघ (सेवा), ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन्स (एआईसीसीटीयू), लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन (एलपीएफ) और यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस (यूटीयूसी) ने हड़ताल का आह्वान किया है।आई ने कहा है कि उनकी सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं।

कौन सी सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं?

  • हड़ताल के कारण बैंक, परिवहन, रेलवे और बिजली सहित आवश्यक सेवाएं प्रभावित होने की आशंका है।
  • हालांकि, बिजली मंत्रालय द्वारा सभी राज्य सरकार और बिजली अधिकारियों को बिना किसी व्यवधान के आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए एक एडवाइजरी जारी की गई थी।
  • रक्षा क्षेत्र में रेलवे कर्मचारियों और कर्मचारियों के भी बड़े पैमाने पर जुटने की उम्मीद है।
  • देश के सबसे बड़े बैंक एसबी

epaper