DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वालमार्ट ने खरीदी Flipkart लेकिन किस्मत चमका रही है फोनपे

walmart Flipkart Deal

देश की बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट को जब दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल चेन कंपनी वॉलमार्ट ने खरीदा होगा तो उसे भी इस बात का नहीं पता होगा की डील के साथ मिली डिजिटल पेमेंट कंपनी फोनपे इतनी तरक्की कर सकती है। हालांकि, तब वालमार्ट ने ज्यादा नहीं सोचा होगा लेकिन आजे वह टॉप स्टार्टअप के रूप में उभर रही है।

फ्लिपकार्ट बोर्ड ने हाल ही में फोनपे प्राइवेट लिमिटेड को खुद को नई इकाई के रूप में स्थापित करते हुए बाहरी निवेशकों से 1 अरब डॉलर (करीब 65 अरब रुपये) जुटाने की अनुमति दे दी। न्यूज साइट ब्लूमबर्ग ने मुताबिक फ्लिपकार्ट बोर्ड ने फोनपे का वैल्युएशन 10 अरब डॉलर (करीब 650 अरब रुपये) निर्धारित किया है।
अगले कुछ महीनों में फंडिंग जुटाने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। तब फोनपे एक स्वतंत्र इकाई के रूप में काम करने लगेगी। हालांकि, वॉलमार्ट की मालिकाना हक वाली कंपनी फ्लिपकार्ट की उसमें बड़ी हिस्सेदारी बनी रहेगी। गौरतलब है कि फोनपे से होने वाला ट्रांजैक्शन पिछले कुछ वर्षों में चार गुना हो गया है। कंपनी अपनी प्रतिस्पर्धी कंपनी पेटीएम पर कड़ी टक्कर दे रही है। पेटीएम को दिग्गज निवेशक वॉरन बफेट का समर्थन हासिल है। 

फ्लिपकार्ट को छोड़ने वाले तीन दोस्तों ने फोनपे की स्थापना दिसंबर 2015 में की थी। सस्ता डेटा और सस्ते स्मार्टफोन से फोनपे को फायदा मिला। अब अनुमान है कि फ्लिपकार्ट से अलग होकर स्वतंत्र इकाई बनने के बाद फोनपे का वैल्युएशन 14 से 15 अरब डॉलर (करीब 910 से 975 अरब रुपये ) तक हो जाएगा।
.
बदल गए पैन-आधार कार्ड से जुड़े नियम, यहां देना होगा Aadhar Card

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Walmart bought flipkart but phone pay shines