DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लघु उद्यमों एवं किसानों को ज्यादा ऋण मुहैया कराएगा UBI

                                                                                                                                       ubi

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (यूबीआई) ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों (एमएसएमई), कृषि, आवास तथा निर्यात के लिए ऋणों का विस्तार करने का फैसला किया है। इससे जहां रोजगार सृजित होंगे वहीं किसानों को महाजनों के चंगुल से भी मुक्ति मिलेगी।

बैंक की तरफ से इन क्षेत्रों में दिए जाने वाले ऋणों से जुड़ी समस्याओं एवं अन्य मुद्दों को लेकर देशव्यापी मंथन कार्यक्रम शुरू किया गया है। इस सिलसिले में रविवार को उत्तर भारत के बैंक प्रबंधकों का सम्मेलन दिल्ली में आयोजित किया गया। बैंक ने एक बयान जारी कर कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को पांच खरब डॉलर तक पहुंचाने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की अहम भूमिका है।

बैंक के शीर्ष अधिकारी विनोद बब्बर ने बताया कि बैंकिंग से जुड़ी लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए बैंक ने निचले स्तर पर फीडबैक जुटाना शुरू किया है। देश भर में बैठकों के जरिये बैंक शाखाओं के संचालकों से समस्याओं के बारे में जानकारी ली जा रही है ताकि उनमें सुधार किया जा सके। रोजगारों में बढ़ोत्तरी, किसानों को महाजनों के ऋणों से छुटकारा दिलाने के लिए एमएसएमई और कृषि क्षेत्रों के ऋणों को विस्तार देने पर फोकस किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि नौ मुद्दों पर बैंक की तरफ से विमर्श शुरू किया गया है जिनमें डिजिटल भुगतान बढ़ाना, कारपोरेट गवर्नेस, एमएसएमई ऋण, प्रौद्यौगिकी का इस्तेमाल, खुदरा एवं निर्यात ऋणों में बढ़ोत्तरी, वित्तीय ग्रिड का निर्माण, पांच अरब की अर्थव्यवस्था में सावर्जनिक बैंकों की भूमिका बढ़ाना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UBI will provide more loans to small enterprises and farmers