टैक्स सलाह: कृषि भूमि को गिफ्ट में देने पर नहीं देना होगा टैक्स, जानें कैसे - tax salah krishi bhoomi gift me dene par nahi dena hoga tax DA Image
20 नबम्बर, 2019|5:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टैक्स सलाह: कृषि भूमि को गिफ्ट में देने पर नहीं देना होगा टैक्स, जानें कैसे

सवाल - मेरे पिता पैतृक कृषि भूमि का कुछ भाग मुझे उपहार के रूप में देना चाहते हैं। इस जमीन की रिजिस्ट्री में कौन-कौन से टैक्स लगेंगे या यह कर मुक्त होगा? कुछ राज्यों में कर छूट मिलती है। -राहुल मिश्रा, उत्तर पद्रेश
जवाब - पिता द्वारा पैतृक कृषि भूमि को उपहार में देने पर कोई आयकर नहीं देना होगा। हां, उपहार डीड को आपको रजिस्ट्रर्ड करना होगा। इसके पंजीयन पर पर आपको उत्तर प्रदेश स्टाम्प एक्ट के तहत जो भी शुल्क निर्धारित होगी उसके अनुसार स्टाम्प पेपर खरीदकर उपहार डीड को पंजीकृत कराना होगा।

सवाल - मैं एक सरकारी कर्मचारी हूं। मेरे नाम से मकान है। मेरी पत्नी के नाम से जमीन है। मैं बेटी के नाम से जमीन लेना चाहता हूं। उसकी उम्र 19 साल है। कोई कानूनी परेशानी तो नहीं है। -राम, दिल्ली
जवाब - जी नहीं। आयकर की दृष्टि से कोई कानूनी परेशानी नहीं है। आयकर नियमानुसार आप अपनी पुत्री को उपहार दे सकते हैं। इस प्रकार के उपहार पर कोई कर नहीं है।

सवाल - मैं एक राशि सेंट्रल बैंक में सावधि जमा (एफडी) किया है। उसका हर महीने मेरे खाते में ब्याज आता है। लेकिन मेरा आय कर योग्य नहीं है। जब मैंने इस वर्ष रिटर्न फाइल किया तो उसमें रिफंड राशि में 2852 रुपये दिखा रहा है। मैं यह जानना चाहता हूं कि यह राशि कब तक रिफंड होगा? मेरा रिटर्न जमा हो गया है। अब रिफंड पाने के लिए क्या करना पडेगा? -मोहम्मद असलम, साहेबगंज, मुजफ्फरपुर
जवाब - आपने आयकर रिटर्न जमा करके अपना दायित्व पूरा कर दिया है। अब जो भी करना है, आयकर विभाग को करना है। आप इंतजार करें। आपका रिफंड जल्द ही आपके बैंक में जमा हो जाएगा। आजकल रिफंड कर विवरणी जमा करने के 10-15 दिन में लोगों को आयकर रिफंड प्राप्त हो रहे हैं।

सवाल - पिता से प्राप्त जमीन को मैंने बेचा और अपने पुत्र के नाम से फ्लैट और कॉमर्शियल दुकान खरीदा है। क्या पूंजीगत लाभ कर देना होगा? अगर हां तो किसे देना होगा? -रामावतार, रोहतक
जवाब - पिता से प्राप्त जमीन को बेचने पर जो पूंजीगत लाभ कर बनेगा उस पर आपको ही कर अदा करना होगा। फ्लैट में निवेश आपने अपने पुत्र की बजाय अपने नाम से किया होता तो आपको निवेश का लाभ प्राप्त हो सकता था। कॉमर्शियल दुकान में निवेश पर पूंजीगत लाभ कर में कोई लाभ प्राप्त नहीं होता है।

सवाल - मेरी पत्नी गृहिणी है। उनको जो पैसा मैं हस्तांतरित करता हूं उसे वो म्यूचुअल फंड और शेयरों में निवेश करती है। इस निवेश से उनको लंबी व छोटी अवधि का पूंजी लाभ होता है। आयकर की धारा 64 के क्लबिंग प्रावधानों के अनुसार उनकी इस आय को मुझे अपनी आय में जोड़ कर दिखाना चाहिए। लेकिन, मेरी कर विवरणी तो मेरे पेन से लिंक है तो क्या मुझे उनकी इस आय भी जोड़कर करके दिखानी चाहिए। -रोहित जैन

जवाब - देखिये जब आप आयकर फॉर्म को ठीक से देखेंगे तो पता चलेगा कि आय की क्लबिंग (जोड़ने) के लिए अलग से कॉलम होते हैं। उस कॉलम में पूछा जाता है कि आप किस की आय को क्लब कर रहे हैं, उनसे आप का संबंध क्या है, उनका पेन क्या है। साथ में आय किस तरह का है, जैसे ब्याज से आय, शेयर से आय आदि। इसलिए आपको अपनी कर विवरणी में पत्नी की आय को क्लब करने मे कोई समस्या नहीं आएगी। वैसे क्लबिंग से बचने हेतु आप पत्नी को निवेश के लिए कर्ज देकर इस समस्या से बच सकते हैं। कर्ज के धन को निवेश करने पर क्लबिंग के प्रावधान लागू नहीं होंगे।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने दूसरी तिमाही में बनाया रिकॉर्ड, 11,262 करोड़ रुपये रहा मुनाफा

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:tax salah krishi bhoomi gift me dene par nahi dena hoga tax