DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  टाटा डिजिटल ई-फार्मेसी कंपनी 1 MG में खरीदेगी बड़ी हिस्सेदारी
बिजनेस

टाटा डिजिटल ई-फार्मेसी कंपनी 1 MG में खरीदेगी बड़ी हिस्सेदारी

लाइव मिंट,नई दिल्लीPublished By: Drigraj Madheshia
Thu, 10 Jun 2021 03:30 PM
टाटा डिजिटल ई-फार्मेसी कंपनी 1 MG में खरीदेगी बड़ी हिस्सेदारी

टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड की सहायक कंपनी टाटा डिजिटल लिमिटेड ने गुरुवार को डिजिटल स्वास्थ्य कंपनी, 1MG टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड में बड़ी हिस्सेदारी खरीदने का ऐलान किया है। टाटा डिजिटल ने एक बयान में कहा कि 1MG में निवेश एक डिजिटल ईकोसिस्टम बनाने के टाटा समूह के विजन के अनुरूप है, जो उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा करता है।

टाटा संस की इस सहायक कंपनी ने इस सप्ताह की शुरुआत में फिटनेस स्टार्टअप क्योरफिट में 7.5 करोड़ डॉलर के निवेश करने की घोषणा की थी। टाटा डिजिटल ने यह भी कहा कि ई-फार्मेसी, ई-डायग्नोस्टिक्स, और टेलीकंसल्टेशन महत्वपूर्ण सेगमेंट हैं और यह डिजिटल ईकोसिस्टम का एक प्रमुख तत्व बन जाएगा। टाटा डिजिटल के सीईओ प्रतीक पाल ने कहा, "1MG में निवेश ई-फार्मेसी और ई-डायग्नोस्टिक्स क्षेत्र में बेहतर ग्राहक अनुभव और उच्च गुणवत्ता वाले हेल्थकेयर उत्पाद और सेवाएं प्रदान करने की टाटा की क्षमता को मजबूत करता है।"

वहीं, 1MG के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रशांत टंडन ने कहा, "हम भारत के सबसे प्रतिष्ठित और सम्मानित समूहों में से एक टाटा के साथ हाथ मिलाते हुए खुश हैं। यह भारत में ग्राहकों के लिए उच्च गुणवत्ता वाले स्वास्थ्य देखभाल उत्पादों और सेवाओं को सुलभ बनाने के लिए 1MG की यात्रा में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।'

बता दें 2015 से 1MG ग्राहकों को दवाओं, स्वास्थ्य और कल्याण उत्पादों, निदान सेवाओं और टेलीकंसल्टेशन की ऑनलाइन डिलीवरी प्रदान करता है। वर्तमान में 1MG तीन डायग्नोस्टिक लैब संचालित करता है और इसकी आपूर्ति श्रृंखला पूरे भारत में 20,000 से अधिक शहर-कस्बों को कवर करती है। इससे पहले मई में टाटा डिजिटल ने ऑनलाइन ग्रोसर बिगबास्केट में हिस्सेदारी खरीदने की घोषणा की थी और ऑनलाइन ग्रॉसर में 1,591 करोड़ (219 मिलियन डॉलर) का निवेश किया था।

टाटा डिजिटल लगातार अपने सुपर-ऐप का निर्माण कर रहा है, जिसके तहत वह टाटा समूह के सभी उपभोक्ता व्यवसायों को लाना चाहता है और भुगतान, वित्तीय उत्पादों, ई-कॉमर्स और ई-किराना सेवाओं सहित डिजिटल सेवाएं प्रदान करता है। पिछले साल सितंबर में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने भी ई-फार्मेसी क्षेत्र में प्रवेश किया और नेटमेड्स की जनक विटैलिक हेल्थ प्राइवेट में लगभग ₹620 करोड़ रुपये में 60% हिस्सेदारी खरीदी। 

संबंधित खबरें