ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessSwiggy lay off more than 1000 employees over the next few days as the coronavirus pandemic

कोरोना संकट के बीच 1,100 कर्मचारियों की छंटनी करेगी Swiggy

फूड डिलीवरी कंपनी स्विगी अगले कुछ दिनों में 1,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी करेगी। कंपनी ने सोमवार को एक बयान में कहा कि कोरोन वायरस की महामारी ने डिमांड को बुरी तरह प्रभावित किया है। Swiggy...

कोरोना संकट के बीच 1,100 कर्मचारियों की छंटनी करेगी Swiggy
एजेंसी,नई दिल्लीMon, 18 May 2020 02:09 PM
ऐप पर पढ़ें

फूड डिलीवरी कंपनी स्विगी अगले कुछ दिनों में 1,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी करेगी। कंपनी ने सोमवार को एक बयान में कहा कि कोरोन वायरस की महामारी ने डिमांड को बुरी तरह प्रभावित किया है। Swiggy के सह-संस्थापक और सीईओ श्रीहरि मैजिटी ने कर्मचारियों को भेजे गए ईमेल में लिखा है कि हमें अगले कुछ दिनों में शहरों और मुख्य कार्यालयों में तैनात कर्मचारियों में से 1,100 लोगों की छंटनी करनी पड़ेगी। 

वहीं ऑनलाइन फूड एग्रीगेटर कंपनी जोमैटो (Zomato) ने भी इससे पहले अपने 13 फीसदी कर्मचारियों को निकालने का ऐलान कर चुका है। जोमैटो ने शुक्रवार को कहा है कि वह अपने 13 प्रतिशत कर्मचारियों की छंटनी करेगा और जून से अगले छह महीने तक कर्मचारियों की सैलरी में 50 फीसदी तक की कटौती की गई है।

यह भी पढ़ें: राहत पैकेज पर पी चिदंबरम का वार, कहा- पुनर्विचार करे सरकार, कई वर्गों को बेसहारा छोड़ दिया गया

उन्होंने कहा, “ चीजें व्यवस्थित होने तक डिलीवरी बिजनेस और डिजिटल कॉमर्स के लिए कोविड लंबी अवधि के टेलविंड्स हो सकता है पर किसी को नहीं पता कि अनिश्चितता कितने दिन तक चलेगी। इसलिए, हमें इस सर्दियों तक तैयार रहने की जरूरत है।" उन्होंने कहा कि पहले की तुलना में छोटे ऑर्डर से लाभ प्राप्त करने में सक्षम होने के लिए स्विगी को खर्चों में कटौती करनी होगी। 

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने ने रचा इतिहास, लॉकडाउन-4 के पहले दिन 48000 के करीब पहुंचा, चांदी में 2480 रुपये की उछाल

मैजिटी ने कहा कि स्विगी निकटवर्ती व्यवसायों को बंद कर देगा जो या तो अत्यधिक अस्थिर होने वाले हैं या अगले 18 महीनों के लिए अत्यधिक प्रासंगिक नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि “यहां का सबसे बड़ा प्रभाव क्लाउड किचन के कारोबार पर पड़ा है। कोविद की शुरुआत के बाद से हमने पहले से ही रसोई सुविधाओं को बंद करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

 

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें