Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Subhash Chandra not cooperating in Zee fund diversion probe says Sebi tells tribunal - Business News India

फंड डायवर्जन मामला: जांच में सहयोग नहीं कर रहे सुभाष चंद्रा, सेबी का दावा

रेगुलेरी मार्केट सेबी ने सोमवार को कहा कि एस्सेल समूह के चेयरमैन सुभाष चंद्रा नियामकीय जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और लगातार अधिक समय की मांग कर रहे हैं।

Varsha Pathak एजेंसी, नई दिल्लीMon, 26 Feb 2024 09:48 PM
हमें फॉलो करें

रेगुलेरी मार्केट सेबी ने सोमवार को कहा कि एस्सेल समूह के चेयरमैन सुभाष चंद्रा नियामकीय जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और लगातार अधिक समय की मांग कर रहे हैं। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने पिछले साल अगस्त में चंद्रा को जी समूह की कंपनियों में निदेशक एवं प्रमुख प्रबंधकीय पद संभालने से रोक दिया था। चंद्रा पर यह कार्रवाई जी एंटरटेनमेंट का पैसा दूसरी जगह भेजने के आरोप में की गई थी।

इस मामले में चंद्रा और उनके बेटे पुनीत गोयनका के खिलाफ जांच भी चल रही है। सेबी के इस आदेश के खिलाफ चंद्रा ने प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) में अपील की हुई है। सैट में इस मामले की सुनवाई के दौरान सेबी के एक वकील ने कहा कि चंद्रा मांगे गए दस्तावेजों को पेश करने के लिए बार-बार अतिरिक्त समय की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- ₹3 में 14000% का तूफानी तेजी, एक्सपर्ट बोले- अब ₹600 के पार जाएगा भाव, खरीदो

वकील ने कहा कि चंद्रा जांच में 'सहयोग नहीं' कर रहे हैं। इसके साथ ही यह भी कहा कि पूंजी बाजार नियामक ने इस साल 12 जनवरी को भी उन्हें समन भेजा था। इस पर चंद्रा के वकील ने कहा कि सेबी का समन कुछ दस्तावेजों की जरूरत से संबंधित था जबकि उनकी ओर से कुछ भी नहीं दिया जाना है।

दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायाधिकरण ने सेबी को चंद्रा द्वारा दायर अपील पर जवाब दाखिल करने के लिए 10 दिन का समय दिया और अपील पर सुनवाई की अगली तारीख आठ मार्च तय की। सेबी ने पहले इस मामले में आठ महीने या अप्रैल के अंत तक अपनी जांच पूरी करने की प्रतिबद्धता जताई थी।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें