DA Image
4 सितम्बर, 2020|10:42|IST

अगली स्टोरी

रक्षा क्षेत्र समेत सात बातों पर होगी शेयर बाजार की नजर

महंगाई, वृहद आर्थिक आंकड़े और वैश्विक हलचल से भी तय होगी बाजार की चाल

The bull statue at the entrance of the Bombay Stock Exchange (BSE) while celebrating the Sensex inde

रक्षा क्षेत्र को आत्मनिर्भर भारत अभियान में शामिल करने का असर इस सप्ताह घरेलू शेयर बाजारों की दिशा तय करने में अहम भूमिका निभा सकता है। इसके अलावा इस सप्ताह वृहद आर्थिक आंकड़ों, कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा वैश्विक रुख से भी बाजार की दिशा तय होगी। विश्लेषकों ने यह राय जताई है। इसके अलावा निवेशकों की निगाह कोविड-19 महामारी से संबंधित ताजा घटनाक्रमों तथा संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी पर रहेगी। 
मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, अमेरिका-चीन के बीच तनाव बढ़ने और कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी की वजह से अनिश्चितता बढ़ रही है। टीके के मोर्चे पर किसी सकारात्मक घटनाक्रम से अनिश्चितता घटेगी। रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा, आगे चलकर वैश्विक संकेत तथा तिमाही नतीजे बाजार का रुख तय करेंगे। इसके अलावा निवेशकों की निगाहें वृहद आर्थिक आंकड़ों मसलन औद्योगिक उत्पादन, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति, टीका परीक्षण को लेकर घटनाक्रम तथा कोविड-19 के रुख पर रहेगी। एजेंल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपये की स्थिति और सोने-चांदी के दाम में से भी अहम संकेत मिलेंगे।
    

defence expo  tejas dives in the sky

1.रक्षा क्षेत्र से बाजार ऐसे मिलेगी मजबूती

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर अभियान से उससे जुड़ी देसी कंपनियों के शेयरों में उछाल देखी जा सकती है। इन कंपनियों में घरेलू और विदेशी निवेशक पूंजी लगाकर मुनाफा कमाना चाहेंगे। ऐसे में इन कंपनियों को आसान पूंजी मिलने के साथ उनके शेयर भी चमकेंगे। साथ ही स्टील कंपनियों के शेयर भी बढ़ सकते हैं क्योंकि रक्षा क्षेत्र में स्टील का उपयोग अधिक होता है।

coronavirus vaccine

2. कोरोना के टीका पर नजरें

कई कंपनियां 15 अगस्त के पहले कोरोना का टीका बनाने की घोषणा करने की बात कह चुकी हैं। टीका बनने से भी बाजार में तेजी आ सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि टीका बनने पर आर्थिक गतिविधियां तेज होने की उम्मीद बढ़ जाएगी। इसका बाजार पर सकारात्मक असर होगा। साथ ही टीका बनाने से जुड़ी कंपनियों के शेयरों में भी तेज उछाल देखने को मिल सकती है। जबकि इसमें देरी होने और कोरोना का प्रसार बढ़ने पर बाजार को झटका भी लग सकता है।

 

money

3. उपभोक्ताओं के लिए राहत पैकेज की उम्मीद

वित्त मंत्रालय के द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज से कंपनियों को दोबारा काम शुरु करने और उत्पादन बढ़ाने में मदद मिली है। लेकिन खरीदारों के जेब में पैसे नहीं हैं। नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने कहा है कि मांग बढ़ाने के लिए उपभोक्ताओं की जेब में पैसा डालने का उपाय होना चाहिए। ऐसे में विशेषज्ञ उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार उपभोक्ताओं के लिए राहत पैकेज की घोषणा जल्द कर सकती है।

us china tension

4. अमेरिका-चीन तनाव

अमेरिका-चीन के बीच तनाव बढ़ने से अनिश्चितता बढ़ रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि वैश्विक बाजार निश्चित रूप से अमेरिका-चीन तनाव तथा चीन की जवाबी कार्रवाई से प्रभावित होंगे। ऐसे में भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजारों में अभी उतार-चढ़ाव बने रहने की आशंका है। 

                                                                                                                            1 81

5. महंगाई समेत आर्थिक आंकड़ों पर नजर

खुदरा और थोक महंगाई के अलावा औद्योगिक वृद्धि के आंकड़ें आने वाले हैं। पिछले सप्ताह रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा के बाद अब सभी की निगाहें इन आंकड़ों पर हैं। रिजर्व बैंक ने महंगाई बढ़ने की आशंका में रेपो दर में बदलाव नहीं किया है। केंद्रीय बैंक ने कहा कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में मुद्रास्फीति ऊंचे स्तर पर रह सकती है। ऐसे में आर्थिक आंकड़ों से बाजार में तेज उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है।

6. सोने के दाम से मिलेंगे संकेत

सोना 56 हजार रुपये के पार और चांदी 78 रुपये के करीब पहुंच चुकी है। विशेषज्ञों का कहना है कि वैश्विक स्तर पर आर्थिक अनिश्चितता बढ़ने से सोने की कीमतों में तेजी आ रही है। ऐसे में सोने की कीमतों में तेजी जारी रहती है तो वह आर्थिक अनिश्चतता बढ़ने का संकेत होगा। ऐसे में शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिल सकती है। आर्थिक उठापटक की आशंका बढ़ने पर निवेशक सुरक्षित निवेश के रूप में सोने की तरफ भागते हैं। वहीं चांदी के दाम में तेजी आर्थिक गतिविधियों में सुधार का संकेत होगा जिससे बाजार में तेजी देखने को मिल सकती है।

bpcl  photo mint

7. कंपनियों के नतीजों भी होंगे अहम

इस सप्ताह के दौरान बाजार भागीदारों की निगाहें तिमाही नतीजों पर भी रहेगी। इस सप्ताह कई बैंकों, पेट्रोलियम, बिजली और वाहन कंपनियों के नतीजे आने हैं। सप्ताह के दौरान बैंक ऑफ बड़ौदा, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, बीपीसीएल, हीरो मोटोकॉर्प, एमआरएफ और एनटीपीसी के तिमाही नतीजे आने हैं। इनके नतीजे भी बाजार की चाल तय करेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Stock market will be monitored on 7 things including defense sector