DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिजनेस › गिरावट के साथ शेयर बाजार बंद, सेंसेक्स-निफ्टी में RIL टॉप लूजर, 100 अरब डॉलर क्लब से बाहर हुए मुकेश अंबानी
बिजनेस

गिरावट के साथ शेयर बाजार बंद, सेंसेक्स-निफ्टी में RIL टॉप लूजर, 100 अरब डॉलर क्लब से बाहर हुए मुकेश अंबानी

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Drigraj Madheshia
Mon, 13 Sep 2021 06:42 PM
गिरावट के साथ शेयर बाजार बंद, सेंसेक्स-निफ्टी में RIL टॉप लूजर, 100 अरब डॉलर क्लब से बाहर हुए मुकेश अंबानी

Share Market Close: शेयर बाजार सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को गिरावट के साथ बंद हुआ।  बीएसई का 30 स्टॉक्स वाला सेंसेक्स 127.31 अंकों के नुकसान के साथ 58,177.76  के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, एनएसई का निफ्टी भी 14 अंक फिसल कर 17,355.30 के स्तर पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय सेंसेक्स 58000 के नीचे भी आ गया था।  

सेंसेक्स में सबसे ज्यादा गिरावट रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में हुई। वहीं कोटक महिंद्रा, टाटा स्टील, टीसीएस जैसे स्टॉक हरे निशान पर बंद हुए। रिलायंस के शेयरों गिरावट की वजह से इसके निवेशकों को जहां नुकसान उठाना पड़ा वहीं, चेयरमैन मुकेश अंबानी को भी 2.1 अरब डॉलर का झटका लगा। फोर्ब्स रियल टाइम बिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक 100 अरब डॉलर क्लब से अंबानी बाहर हो गए हैं और अब इनकी संपत्ति 92.4 अरब डॉलर रह गई है।

 

सेंसेक्स के शेयरों में 2.22 प्रतिशत की गिरावट के साथ सर्वाधिक नुकसान में रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर रहा। कंपनी ने गूगल के साथ मिलकर विकसित किये जा रहे सस्ते स्मार्टफोन को पेश करने का कार्यक्रम दिवाली तक टाल दिया। इसके बाद, कंपनी का शेयर नीचे आ गया। संभवत: सेमीकंडक्टर की समस्या के कारण यह कदम उठाया गया है। जियो फोन नेक्स्ट को पिछले सप्ताह 10 सितंबर को पेश करने की योजना थी।     

इसके अलावा, आईसीआईसीआई बैंक, एचयूएल, एचडीएफसी बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, अल्ट्राटेक सीमेंट, इंडसइंड बैंक और टेक महिंद्रा में भी प्रमुख रूप से 1.79 प्रतिशत तक की गिरावट रही। दूसरी तरफ, लाभ में रहने वाले शेयरों में टीसीएस, भारती एयरटेल, बजाज फिनसर्व, टाटा स्टील, मारुति और कोटक बैंक शामिल हैं। इनमें 1.38 प्रतिशत की तेजी आयी। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 20 लाभ में रहें।     

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ''मुद्रास्फीति आंकड़ा आने से पहले उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में भारतीय शेयर बाजार नुकसान में रहें। बेहतर संकेत के बावजूद, वैश्विक बाजार एशियाई बाजारों को गति देने में विफल रहें। उन्होंने कहा, ''यूरोपीय सेंट्रल बैंक ने पिछले सप्ताह मौद्रिक नीति समीक्षा में वृद्धि और मुद्रास्फीति के अनुमान को बढ़ा दिया। इसका कारण आर्थिक पुनरूद्धार में तेजी है। इसके साथ महामारी से अर्थव्यवस्था को राहत देने के लिये शुरू किये गये बांड खरीद कार्यक्रम की गति हल्की की गयी है।   

एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा कि पिछले कुछ सप्ताह जोरदार तेजी के साथ आगे बढ़ने वाले सूचकांक फिलहाल सीमित दायरे में रहे।उन्होंने कहा, ''हाल की गिरावट के बाद कुछ चुनिंदा छोटी एवं मझोली कंपनियों के शेयरों में गतिविधियां देखने को मिलीं। हालांकि, बाजार प्रतिभागी शेयर के दाम चढ़ने को देखते हुए सतर्क रुख अपना रहे हैं...। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई, सिओल और तोक्यो लाभ में रहें जबकि हांगकांग नुकसान में रहा। यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर के कारोबार में तेजी रही।इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.91 प्रतिशत मजबूत होकर 73.58 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर सोमवार को 18 पैसे फिसलकर 73.68 रुपये प्रति डॉलर प्रति डॉलर पर पहुंच गयी।

सुबह का हाल

एशियाई बाजारों में कमजोर धारणा के बीच और रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक और इंफोसिस के शेयरों में गिरावट के साथ सोमवार को सेंसेक्स में शुरुआती कारोबार में 190 से ज्यादा अंक की गिरावट हुई।   सोमवार सुबह 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 193.16 अंक या 0.33 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,111.91 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह शुरुआती सत्र में निफ्टी 37.90 अंक या 0.22 प्रतिशत गिरकर 17,331.35 पर आ गया।

बृहस्पतिवार को पिछले सत्र में, 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 54.81 अंक या 0.09 प्रतिशत बढ़कर 58,305.07 पर बंद हुआ था जो उसका अब तक का उच्चतम स्तर है। वहीं एनएसई निफ्टी 15.75 अंक या 0.09 प्रतिशत बढ़कर 17,369.25 पर बंद हुआ था।  शुक्रवार को गणेश चतुर्थी के कारण बाजार बंद थे।
    

संबंधित खबरें