ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessSmall cap stock eki energy hits 5 percent upper circuit after partners with Indian Oil Corporation Business News India

₹8500 से टूटकर ₹430 पर आया यह शेयर, खरीदने की लूट, कंपनी ने की है डील

EKI एनर्जी के आईपीओ का इश्यू प्राइस ₹100 से ₹102 प्रति इक्विटी शेयर था। इस इश्यू के लिए एक लॉट में 1200 शेयर थे। ऐसे में एक निवेशक को आईपीओ में आवेदन करने के लिए ₹1,22,400 का निवेश करना पड़ा।

₹8500 से टूटकर ₹430 पर आया यह शेयर, खरीदने की लूट, कंपनी ने की है डील
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 06 Dec 2023 04:54 PM
ऐप पर पढ़ें

Small cap stock: सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन बुधवार को ईकेआई एनर्जी (EKI energy share price) के शेयर में तूफानी तेजी देखने को मिली। यह शेयर ट्रेडिंग के दौरान 5 प्रतिशत की तेजी के साथ 430.35 रुपये तक पहुंच गया। वहीं, शेयर की क्लोजिंग कीमत 427.75 रुपये थी। शेयर का मार्केट कैप 1,177.05 रुपये है।

इश्यू प्राइस क्या था: बता दें कि EKI एनर्जी के आईपीओ का इश्यू प्राइस ₹100 से ₹102 प्रति इक्विटी शेयर था। इस इश्यू के लिए एक लॉट में 1200 शेयर थे। ऐसे में एक निवेशक को इस आईपीओ में आवेदन करने के लिए ₹1,22,400 का निवेश करना पड़ा। यह शेयर साल 2022 में 8,500 रुपये के पार पहुंच गया था। यह 102 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के अपर प्राइस बैंड से लगभग 8300 पर्सेंट अधिक है। हालांकि, इसके बाद कंपनी ने बोनस शेयर का ऐलान किया था। इसके बाद शेयर की कीमत 

कंपनी ने इंडियन ऑयल से की डील: वैश्विक कार्बन क्रेडिट डेवलपर और सप्लायर EKI  एनर्जी सर्विसेज ने सौर खाना पकाने की टिकाऊ 'इनडोर' प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी रिफाइनर इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के साथ साझेदारी की है। EKI एनर्जी सर्विसेज और इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने इस आशय के लिए एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) को औपचारिक रूप दिया है।

इस सहयोग का मकसद इंडियन ऑयल की अभिनव 'इनडोर' सौर खाना पकाने की प्रणाली 'सूर्य नूतन' को बढ़ावा देना है। देश की सबसे बड़ी ईंधन रिफाइनरी व खुदरा विक्रेता इंडियन ऑयल की संपूर्ण हाइड्रोकार्बन मूल्य श्रृंखला में प्रमुख उपस्थिति है। EKI एनर्जी के प्रबंध निदेशक एवं चेयरमैन मनीष दबकारा ने कहा कि 'सूर्य नूतन' को बढ़ावा देकर हम न केवल नवाचार का समर्थन कर रहे हैं बल्कि देश की पर्यावरणीय रूप से सतत विकास आवश्यकताओं के प्रति अपनी जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें