Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसRateGain IPO में पैसे लगाना चाहिए या नहीं? जानिए क्या कह रहे हैं एक्सपर्ट्स

RateGain IPO में पैसे लगाना चाहिए या नहीं? जानिए क्या कह रहे हैं एक्सपर्ट्स

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीDrigraj Madheshia
Mon, 06 Dec 2021 10:32 AM
RateGain IPO में पैसे लगाना चाहिए या नहीं?  जानिए क्या कह रहे हैं एक्सपर्ट्स

इस खबर को सुनें

RateGain Travel Technologies IPO:  ड्रिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी कंपनी रेटगेन ट्रैवल टेक्नोलॉजीज का आईपीओ अगले दो दिनों में खुलने वाला है। करीब 1336 करोड़ रुपये के आईपीओ में 7 से 9 दिसंबर के बीच पैसे लगा सकेंगे। इस आईपीओ के तहत 375 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि लांग टर्म में निवेशकों को यह शानदार रिटर्न दे सकता है। तेजी से बढ़ते डिजिटाइजेशन के चलते रेटगेन की हाई ग्रोथ हो सकती है।

यह आईपीओ वित्त वर्ष 2021 के प्राइस टू सेल्स के मुकाबले 18.1 गुना और वित्त वर्ष 2022 के अनुमानित प्राइस टू सेल्स के मुकाबले 15.1 गुना भाव पर है, जो मौजूदा भाव पर पेटीएम के मुकाबले 27.3 गुना और जोमैटो के मुकाबले 31.7 गुना डिस्काउंट पर है। 

रेटगेन दुनिया की बड़ी ड्रिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी कंपनियों में से एक है. इसके साथ ही यह भारत में हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल इंडस्ट्री में सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर ऐज ए सर्विस कंपनी है। कंपनी होटल, एयरलाइंस, ऑनलाइन ट्रैवल एजेंट (OTAs), मेटा-सर्च कंपनियों, वेकेशन रेंटल, पैकेज प्रोवाइडर, कार रेंटल, रेल, ट्रैवल मैनेजमेंट कंपनियों, क्रूज़ और फ़ेरी सहित हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल से संबंधित सेवाएं प्रदान करती है।

RateGain  IPO से जुड़े डिटेल्स

  • रेटगेन के 1336 करोड़ रुपये के आईपीओ में निवेशक 7 से 9 दिसंबर के बीच पैसे लगा सकते हैं। 
  • 375 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे जबकि ऑफर फॉर सेल  के तहत करीब 2.26 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री होगी।
  • इस आईपीओ के तहत 1 रुपये की फेस वैल्यू वाले शेयरों के लिए 405-425 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया है।
  • 35 शेयरों का लॉट तय किया गया है यानी कि प्राइस बैंड के अपर प्राइस के मुताबिक निवेशकों को कम से कम 17875 रुपये का निवेश करना होगा।
  • आईपीओ के तहत कंपनी के कर्मी 40 रुपये के डिस्काउंट पर शेयरों की खरीदारी कर सकते हैं।
  • क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (QIB) के लिए इश्यू का 75 फीसदी, नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (NII) के लिए 15 फीसदी हिस्सा और खुदरा निवेशकों के लिए 10 फीसदी हिस्सा आरक्षित किया गया है।
  • शेयरों का अलॉटमेंट 14 दिसंबर को तय हो सकता है, जबकि लिस्टिंग के लिए 17 दिसंबर का दिन तय किया गया है।
epaper

संबंधित खबरें