DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिजनेस › गेहूं की बुवाई के पहले किसानों को जोर का झटका, NPK की कीमतों में इजाफा 
बिजनेस

गेहूं की बुवाई के पहले किसानों को जोर का झटका, NPK की कीमतों में इजाफा 

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्ली Published By: Tarun Singh
Mon, 11 Oct 2021 08:26 PM
गेहूं की बुवाई के पहले किसानों को जोर का झटका, NPK की कीमतों में इजाफा 

किसान खरीफ की फसलों की कटाई की तैयारी कर रहे हैं। साथ ही, गेहूं समेत रबी सीजन की दूसरी फसलों की बुवाई की तैयारी भी शुरू हो गई है। इस बीच, नए फसली सीजन से पहले फर्टिलाइजर कंपनियों ने किसानों को बड़ा झटका दिया है। नाइट्रोजन, फॉस्फेट और पोटाश (NPK) सहित कई कॉम्प्लेक्स फर्टिलाइजर की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी गई है। इनके दाम में प्रति 50 किलो के बैग पर 500 रुपये तक इजाफा हुआ है। यह बात रूरल वाइस की एक रिपोर्ट में कही गई है। मध्यप्रदेश के राज्य सहकारी विपणन संघ ने जिला विपणन अधिकारियों को एक लेटर जारी किया है, जिसमें नई कीमतों को 1 अक्टूबर से लागू करने की बात कही गई है। बता दें, केन्द्र सरकार ने फर्टिलाइजर कंपनियों को DAP और दूसरे फॉस्फेटिक फर्टिलाइजर्स का दाम ना बढ़ाने का निर्देश दिया था। 

यह भी पढ़ेंःपीएम किसान के लाभार्थियों के लिए Good News, पीएम किसान समाधान दिवस में सही कराएं गलतियां ताकि नहीं रुके 10वीं किस्त

क्या होगा 50 किलोग्राम के NPK बैग का दाम 

भारत सरकार की फर्टिलाइजर कंपनी नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड (NFL) और सरकारी संस्था कृभको का एनपीके (12:32:16) का 50 किलोग्राम का बैग 1700 रुपये का हो गया है। हालांकि, इफको ने कीमतों में इजाफा नहीं किया है, जिसकी वजह से वहां यही एनपीके 1185 रुपये का मिलेगा। इसके अतिरिक्त एनपीएके कॉम्प्लेक्स फर्टिलाइजर 10:26:26 का दाम कोरोमंडल के लिए 1475 रुपये प्रति हो गया है। जबकि इफको यही बैग 1175 रुपये का बेच रहा है। 

npk price

अमोनिया, फॉस्फेट, सल्फेट यानी एनपीएस 20:20:0 का दाम प्रति बैग बढ़कर 1300 रुपये हो गया है। वहीं, इफको के हाल ही में किए गए 100 रुपये के इजाफे के बाद भी कीमत 1150 रुपये ही है। निजी कंपनी स्मार्टकेम के (12: 32:16 अनुपात वाले) 50 किलोग्राम एनपीके का दाम 1750 रुपये प्रति बैग कर दिया है।

केन्द्र सरकार का निर्देश कीमतें ना बढ़ाएं फर्टिलाइजर कंपनियां

पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार केन्द्रीय उर्वरक मंत्री मनसुख मांडविया ने सभी फर्टिलाइजर कंपनियों को DAP और दूसरे फॉस्फेटिक उर्वरकों के रिटेल की कीमतों में इजाफा ना करने को कहा है। सरकार से जुड़े सूत्रों के अनुसार मंत्री ने सभी कंपनियों को स्पष्ट कर दिया है सरकार कीमतों में बढ़ोतरी की अनुमति नहीं देगी। बता दें, इस साल जून में सरकार ने डीएपी और नॉन यूरिया फर्टिलाइजर के लिए 14,775 करोड़ रुपये की सब्सिडी की मंजूरी दी थी। यूरिया के बाद DAP फर्टिलाइजर की मांग सबसे अधिक होती है।

संबंधित खबरें