DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका-चीन वार्ता, तेल और रुपये की चाल से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

Share market updates on Monday

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के निवेश, अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता एवं तेल और रुपये की चाल से इस सप्ताह घरेलू शेयर बाजारों की दिशा तय होगी। विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशक की आर्थिक वृद्धि को गति देने और ग्राहकों की धारणा को फिर से मजबूत करने के लिए सरकार की ओर से कदम उठाये जाने वाले कदमों पर नजर है।

सैमको सिक्योरिटीज एंड स्टॉकनोट के संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा, ''कंपनियों के परिणाम जारी करने का दौर समाप्त हो गया है और अधिकतर कंपनियों की कमाई के तिमाही आंकड़े संतोषजनक नहीं रहे हैं। अर्थव्यवस्था नरमी की चपेट में है और इस तिमाही में मजबूती हासिल करने के लिए कंपनियों के पास करने के लिए बहुत कुछ नहीं है और अब बहुत सी चीजें सरकार की ओर से उठाये जाने वाले कदमों पर निर्भर हैं।''

रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के शोध विभाग के उपाध्यक्ष अजीत मिश्रा ने भी कहा, ''कंपनियों की कमाई के आंकड़े जारी करने का समय समाप्त हो चुका है और घरेलू स्तर पर बाजार को प्रभावित करने वाला कोई पहलू नहीं है। अब वैश्विक घटनाक्रमों से दिशा तय होने की उम्मीद है। निवेशकों की नजर अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता की प्रगति, कच्चे तेल और रुपये/डॉलर की चाल पर होगी।''

विशेषज्ञों का कहना है कि आर्थिक सुस्ती, कंपनियों की आय में कमी, वाहन उद्योग से जुड़े संकट एवं वैश्विक व्यापार से जुड़े मुद्दे से निवेश धारणा प्रभावित हो रही है। एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम ने कहा, ''इस सप्ताह निफ्टी की नजर वैश्विक संकेतों पर होगी क्योंकि वहां बहुत से घटनाक्रम हो रहे हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच व्यापार वार्ता सितंबर में संभावित है।'' पिछले सप्ताह सेंसेक्स में 231.58 अंक यानी 0.60 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Share Market Review China US Trade Talk Oil Rupees Fix Sensex Way