DA Image
28 मार्च, 2020|10:40|IST

अगली स्टोरी

शेयर बाजार पर कोरोना का असर, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान पर

indian benchmark indices BSE Sensex and NSE’s Nifty 50 closed higher. Photo: Mint

कोरोना वायरस को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच बैंकिंग और वित्त कंपनियों के शेयरों में गिरावट देखने को मिली। सोमवार को इस कारोबारी सप्ताह के पहले दिन सोमवार 17 फरवरी को घरेलू शेयर बाजार हरे निशान के साथ खुले, लेकिन कुछ देर बाद ही यह तेजी गिरावट में बदल गई। शुरुआती कारोबार में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 65 अंक गिरकर खुला। सुबह साढ़े नौ बजे सेंसेक्स करीब 66 अंकों के नुकसान के साथ 41191 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी भी लाल निशान के साथ 12,094.55 के स्तर पर था।

दिग्गज शेयरों का हाल

आज सन फार्मा, टाटा मोटर्स, एनटीपीसी, पावर ग्रिड, यस बैंक, गेल, हीरो मोटोकॉर्प, इंडसइंड बैंक और वेदांता लिमिटेड के शेयर हरे निशान पर खुले। वहीं इंफ्राटेल, भारती एयरटेल, टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, एम एंड एम, ओएनजीसी, आईसीआईसीआई बैंक, सिप्ला, एचसीएल टेक और टाइटन के शेयर लाल निशान पर खुले। जहां तक सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें तो आज सभी सेक्टर्स हरे निशान पर खुले। इनमें प्राइवेट बैंक, एफएमसीजी, ऑटो, रियल्टी, आईटी, फार्मा, मेटल, पीएसयू बैंक और मीडिया शामिल हैं। 

sensex news  sensex today  nifty 50  nifty bank  nifty share price  nifty option chain nifty index

बता दें प्री ओपन के दौरान सुबह 9:10 बजे शेयर मार्केट बढ़त पर था। सेंसेक्स 66.30 अंक की तेजी के साथ 41,324.04 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी 18.35 अंक की तेजी के साथ 12,131.80 के स्तर पर था। 

यह भी पढ़ें: कोरोना का असर: पेट्रोल हो सकता है 4 रुपये तक सस्ता

शुक्रवार को सेंसेक्स 202.05 अंक यानी 0.49 फीसदी की गिरावट के बाद 41,257.74 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 61.20 अंक यानी 0.50 फीसदी की गिरावट के बाद 12,113.45 के स्तर पर बंद हुआ था। 

विदेशी निवेशकों ने 24,617 करोड़ का निवेश किया

विदेशी संस्थागत निवेशक (एफपीआई) फरवरी के पहले पखवाड़े में शुद्ध खरीदार बने रहे। उन्होंने भारतीय बाजारों में 24,617 करोड़ रुपये का निवेश किया। बजट के बाद बाजार की सकारात्मक धारणा बने रहने और रिजर्व बैंक के नीतिगत दर मामले में उदार रुख के कारण एफपीआई घरेलू बाजार में निवेश कर रहे हैं।
डिपॉजिटरी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 3 से 14 फरवरी के बीच शेयर बाजारों में 10,426 करोड़ रुपये, बांड बाजार में 14,191 करोड़ रुपये का निवेश किया।

यह भी पढ़ें: 640 रुपये बढ़ गया 10 ग्राम सोने का भाव, एक हफ्ते में चांदी की कीमत में 200 की उछाल

इस प्रकार समीक्षावधि में एफपीआई ने कुल 24,617 करोड़ रुपये का निवेश किया। आंकड़ों के मुताबिक सितंबर 2019 के बाद से एफपीआई लगातार भारतीय बाजारों में लिवाल बने हुए हैं। रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड में उपाध्यक्ष (शोध) अजीत मिश्रा ने कहा, बजट के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों के समर्थन से बाजार में सुधार देखा गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने 2020-21 के बजट भाषण में कंपनियों से लिए जाने वाले लाभांश वितरण कर (डीडीटी) हटाने का प्रस्ताव किया। इससे कर का बोझ लाभांश पाने वाले को हस्तांतरित हो गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:share market opened sharply but Sensex Nifty arrived at red mark after opening