ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसशेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 60000 व निफ्टी 17900 के पार खुला

शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 60000 व निफ्टी 17900 के पार खुला

Share Market Live Update: नए साल के दूसरे सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत मजबूती के साथ हुई है। ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच आज यानी सोमवार को बीएसई का 30 स्टॉक्स...

शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 60000 व निफ्टी 17900 के पार खुला
Drigraj Madheshiaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 10 Jan 2022 09:38 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

Share Market Live Update: नए साल के दूसरे सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत मजबूती के साथ हुई है। ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच आज यानी सोमवार को बीएसई का 30 स्टॉक्स पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 325 अंक ऊपर 60070 के स्तर पर खुला तो वहीं, निफ्टी ने 17913 के स्तर से आज दिन के कारोबार की शुरुआत की। 

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 454.72 अंक उछल कर  60,199.37 के स्तर पर था तो निफ्टी 118.05 अंकों की बढ़त के साथ 17,930.75 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। एनएसई पर निफ्टी टॉप गेनर में कोटक आईसीआईसी बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, टीसीएस और मारुति हैं। वहीं, विप्रो, सिप्ला, सन फार्मा, डॉक्टर रेड्डी और हिन्डाल्को लाल निशान के साथ टॉप लूजर में हैं।

बीते हफ्ते आठ कंपनियों का पूंजीकरण 2.50 लाख करोड़ बढ़ा

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में बीते सप्ताह 2,50,005.88 करोड़ रुपये की जोरदार बढ़ोतरी हुई। सबसे अधिक लाभ में रिलायंस इंडस्ट्रीज और टीसीएस रहीं। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,490.83 अंक या 2.55 प्रतिशत के लाभ में रहा।शीर्ष 10 कंपनियों में सिर्फ इन्फोसिस और विप्रो के बाजार मूल्यांकन में गिरावट आई।समीक्षाधीन सप्ताह में रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 46,380.16 करोड़ रुपये बढ़कर 16,47,762.23 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

एफपीआई ने जनवरी में अबतक शेयरों में 3,202 करोड़ रुपये डाले

लगातार तीन महीने की बिकवाली के बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने जनवरी के पहले सप्ताह में भारतीय शेयर बाजारों में 3,202 करोड़ रुपये डाले हैं। बाजार में आए 'करेक्शन' की वजह से एफपीआई का निवेश प्रवाह सुधरा है। विशेषज्ञों का कहना है कि आगे चलकर अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की संभावना, ओमीक्रोन को लेकर बढ़ती चिंता तथा मुद्रास्फीति के ऊंचे स्तर की वजह से भारतीय बाजारों को लेकर एफपीआई का प्रवाह उतार-चढ़ाव वाला रहेगा।     

एफपीआई का ताजा निवेश अक्टूबर-दिसंबर, 2021 के दौरान भारतीय बाजारों से उनकी 38,521 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी के बाद आया है। इससे पहले पिछले साल सितंबर में एफपीआई ने भारतीय बाजारों में 13,154 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया था। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के मुताबिक, एफपीआई ने 3-7 जनवरी के दौरान भारतीय शेयर बाजारों में शुद्ध रूप से 3,202 करोड़ रुपये डाले हैं। 

epaper