DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसबैंकिंग शेयरों में रैली के साथ शेयर बाजार मजबूती के साथ बंद, सेंसेक्स में 371 अंकों की उछाल, निफ्टी 9400 के पार पहुंचकर लौटा

बैंकिंग शेयरों में रैली के साथ शेयर बाजार मजबूती के साथ बंद, सेंसेक्स में 371 अंकों की उछाल, निफ्टी 9400 के पार पहुंचकर लौटा

लाइव हिन्दुस्तान एजेंसी,नई दिल्लीDrigraj
Tue, 28 Apr 2020 03:48 PM
बैंकिंग शेयरों में रैली के साथ शेयर बाजार मजबूती के साथ बंद, सेंसेक्स में 371 अंकों की उछाल, निफ्टी 9400 के पार पहुंचकर लौटा

लॉकडाउन में और रियायत की उम्मीद, रिलायंस द्वारा राइट इश्यू लाने और मैक्स लाइफ-एक्सिस बैंक के बीच डील की खबरों से बाजार में  रिकवरी देखने को मिली। बैंकिंग सेक्टर में बहार दिखी। शानदार बढ़त के बाद आज घरेलू शेयर बाजार बंद हुआ। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 371.44 अंकों की उछाल के साथ के 32,114.52 स्तर पर बंद हुआ तो वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक निफ्टी भी आज दिन के उच्च स्तर 9402 को छूकर लौटा। दोनों सूचकांक मंगलवार 28 अप्रैल को हरे निशान के साथ बंद हुए। आज बैंक शेयरों में जोरदार लीवाली के चलते बैंक निफ्टी में 3.14 फीसद की उछाल देखी गई। वहीं आज जहां डॉलर के मुकाबले रुपया 5 पैसे मजबूत होकर 76.19 के स्तर पर बंद हुआ तो वायदा बाजार में सोने-चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई।

इंडसंड बैंक के शेयरों में करीब 17 फीसद की उछाल

आज इंडसंड बैंक के शेयरों में 17 प्रतिशत तक की उछाल देखने को मिली। सोमवार को तिमाही नतीजे आने के बाद मंगलवार को इंडसंड बैंक के शेयरों में जोरदार रैली दिखी। वहीं निफ्टी पर एचडीएफसी बैंक 8.20 फीसद, एक्सिस बैंक के शेयर 6.38 फीसद तक उछले। कोई भी बैंकिंग स्टॉक आज लाल निशान पर बंद नहीं हुआ।आज निफ्टी टॉप लूजर की लिस्ट में सनफार्मा, आईओसी, एनटीपीसी, नेस्ले इंडिया जैसे स्टॉक प्रमुख रहे।

एक और पैकेज जारी होने की उम्मीद से बाजार 

कारोबारियों का कहना है कि रिजर्व बैंक की तरफ से म्यूचुअल फंड उद्योग के लिए 50,000 करोड़ रुपये की नकदी सुविधा पेशकश से वित्तीय कंपनियों के शेयरों में खरीदारी का जोर रहा। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने के लिए एक और पैकेज जारी होने की उम्मीद से भी बाजार में खरीदारी को बढ़ावा मिला। जियोजित फाइनेंसियल सविर्सिज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ''वैश्विक बाजारों के नेतृत्व में प्रमुख सूचकांकों में बढ़त रही। वित्तीय कंपनियों के शेयरों की इसमें अग्रणी भूमिका रही। वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज को लेकर उम्मीद बढ़ी है, इससे बाजार को समर्थन मिला। किसी खास शेयर में उस कंपनी के परिणाम और प्रबंधन की बयानों के आधार पर प्रतिक्रिया देखी गई है। हालांकि, उन्होंने कहा कि बाजार में यह तेजी बरकरार रहेगी यह इस बात पर निर्भर करता है कि लॉकडाउन कितना खुलता है और कारोबारी गतिविधियों को फिर से पटरी पर लाने के लिए क्या उपाय किए जाते हैं। 

एशियाई बाजारों में मिलाजुला रुख

एशियाई बाजारों में मिला जुला रुख रहा। सरकारें कारोबार खोलने की तरफ बढ़ रही हैं और केन्द्रीय बैंक अर्थव्यवसथा के लिए नकदी उपलब्ध करा रहे हैं। यूरोपीय बाजारों में इस बात को लेकर अच्छी शुरुआत रही कि कोरोनावायरस के आंकड़ों के बढ़ने की चाल धीमी पड़ी है। अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चे तेल का वायदा भाव 1.95 प्रतिशत बढ़कर 23.52 डालर प्रति बैरल पर पहुंच गया। मुद्रा बाजार में रुपया सात पैसे ऊंचा रहा। 

इस बीच दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 30 लाख के पार निकल गई जिसमें 2.11 लाख लोगों की मौत हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक भारत में इस संक्रमण से 934 लोगों की मौत हुई है जबकि कुल संक्रमित लोगों की संख्या 29,435 तक पहुंच गयी है। 
     

यह भी पढ़ें: दूसरे दिन भी सोने की कीमतों में गिरावट, जानें आज कितना सस्ता हुआ Gold

बता दें सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजार तेजी के साथ बंद हुए। इसका असर मंगलवार सुबह भारतीय शेयर बाजार पर भी देखने को मिला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 358 अंकों की बढ़त के साथ 32101 के स्तर पर खुला तो वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी हरे निशान के साथ आज के कारोबार की शुरुआत की, लेकिन जल्द ही बाजार ने बढ़त गंवा दी। सेंसेक्स जहां 32000 के नीचे आ गया वहीं निफ्टी भी एक समय 9,260 के स्तर पर आ गया था। अगर प्री ओपन सेशन की बात करें तो सेंसेक्स करीब 300 अंक मजबूत होकर 32070 के स्तर पर था  वहीं निफ्टी भी 40 अंक मजबूत होकर 9300 के पार ट्रेड कर रहा था।

यह भी पढ़ें: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज कर्ज से छुटकारा पाने के लिए लाएगी राइट इश्यू, 30 को बोर्ड मीटिंग में होगा निर्णय

सोमवार को सेंसेक्स 415.86 अंकों की उछाल के साथ  31,743.08 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी दिनभर के कारोबार में 9377 के स्तर पर पहुंच कर 9300 के नीचे बंद हुआ। जहां तक अमेरिकी शेयर बाजार की बात है तो डाऊजोंस 1.51 फीसद की तेजी के साथ 24133 पर बंद हुआ तो वहीं नैस्डैक 1.11 फीसद की बढ़त के साथ 8730 के स्तर पर। एसएंडपी में भी सोमवार को तेजी देखने को मिली और यह 1.47 फीसद की तेजी के साथ 2878 के स्तर पर बंद हुआ। 

यह भी पढ़ें: मैक्स लाइफ इंश्योरेंस में 29 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगा एक्सिस बैंक, 1600 करोड़ रुपए में होगा अधिग्रहण

9:55 बजे: अगर सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें तो बैंक निफ्टी 1.37 फीसद, फाइनेंशियल सर्विसेज 1.13 फीसद, मीडिया 0.57 फीसद, प्राइवेट बैंक 1.67, पीएसयू बैंक 0.49 फीसद ऊपर हैं तो वहीं निफ्टी ऑटो 0.38 फीसद, एफएमसीजी 0.79 फीसद, फार्मा 1.57 फीसद नीचे कारोबार कर रहे हैं। इंडसंड बैंक के शेयरों में 8 फीसद की ज्यादा उछाल देखने को मिल रही है।

30 अप्रैल को रिलायंस इंडस्ट्रीज की बोर्ड बैठक होगी, जिसमें चौथी तिमाही के नतीजे, डिविडेंड और राइट इश्यू पर फैसला हो सकता है। करीब 30 साल बाद आरआईएल का राइट इश्यू आ सकता है।

इंडसइंड बैंक का चौथी तिमाही शुद्ध लाभ 16 प्रतिशत घटकर 301.74 करोड़ रुपये 

निजी क्षेत्र के इंडसइंड बैंक का बीते वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही का एकल शुद्ध लाभ 16 प्रतिशत घटकर 301.74 करोड़ रुपये रह गया। फंसे कर्ज के लिए ऊंचा प्रावधान किए जाने की वजह से बैंक के मुनाफे में कमी आई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में बैंक ने 360.10 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान हालांकि, उसकी एकल कुल आय बढ़कर 9,158.57 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 7,550.43 करोड़ रुपये रही थी। चौथी तिमाही (जनवरी से मार्च 2020) में बैंक का डूबे कर्ज और अन्य आकस्मिक खर्चों के लिए प्रावधान बढ़कर 2,440.32 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 1,560.69 करोड़ रुपये था। 

यह भी पढ़ें: एमएसएमई सेक्टर को बड़ी राहत की तैयारी, 1 लाख करोड़ की क्रेडिट गारंटी स्कीम का ऐलान कर सकती है सरकार

समीक्षाधीन तिमाही में बैंक की सकल गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) बढ़कर कुल ऋण का 2.45 प्रतिशत हो गईं, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 2.10 प्रतिशत थीं। हालांकि, तिमाही के दौरान बैंक का शुद्ध एनपीए घटकर 0.91 प्रतिशत रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 1.21 प्रतिशत पर था।   इंडसइंड बैंक ने कहा कि 31 दिसंबर, 2019 को समाप्त तिमाही में उसने दो इकाइयों पर बकाया 960.89 करोड़ रुपये की पहचान 'धोखाधड़ी के रूप में की। रिजर्व बैंक के नियमों के तहत उसने इसके लिए जरूरी प्रावधान किए। 

अडाणी पावर को चौथी तिमाही में 1,312 करोड़ रुपये का घाटा
अडाणी पावर को 31 मार्च, 2020 को समाप्त बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 1,312.86 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 634.64 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ कमाया था।  बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय घटकर 6,327.57 करोड़ रुपये पर आ गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 8,077.89 करोड़ रुपये थी।  तिमाही के दौरान कंपनी का कुल खर्च 7,980.17 करोड़ रुपये रहा, जो एक साल पहले समान तिमाही में 8,162.01 करोड़ रुपये रहा था। 

अंबुजा सीमेंट्स का मार्च तिमाही का शुद्ध लाभ 6.8 प्रतिशत बढ़कर 742 करोड़ रुपये

अंबुजा सीमेंट्स का 31 मार्च को समाप्त पहली तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 6.80 प्रतिशत बढ़कर 742.59 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कंपनी का वित्त वर्ष जनवरी-दिसंबर होता है। इससे पिछले साल की समान तिमाही में कंपनी ने 695.30 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी परिचालन आय 8.50 प्रतिशत घटकर 6,249.66 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले साल की समान तिमाही में 6,830.70 करोड़ रुपये थी। 

30 हजार के पास पहुंचे कोरोना के मरीज

बता दें कोरोना वायरस के मामले देश में बढ़कर 30 हजार के पास पहुंच गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, अभी तक 29,435 पॉजिटिव केस भारत में सामने आ चुके हैं। इसके अलावा 934 लोगों की मौत हो चुकी है। दुनिया में कोरोनो वायरस के संक्रमित मामलों की संख्या तीस लाख के पार पहुंच गई है। इसमें से 8,78,813 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। वहीं, कोरोना वायरस से दुनिया में मरने वालों की संख्या दो लाख आठ हजार से ज्यादा हो गई है। इसमें से दो तिहाई यूरोप से हैं। कोरोना से सबसे ज्यादा मौत की बात करें तो अमेरिका में 55 हजार से ज्यादा लोग अब तक मर चुके हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें