DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  सेंसेक्स चला 50 हजारी बनने, निफ्टी भी नए शिखर पर

बिजनेससेंसेक्स चला 50 हजारी बनने, निफ्टी भी नए शिखर पर

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Drigraj Madheshia
Mon, 11 Jan 2021 05:27 PM
सेंसेक्स चला 50 हजारी बनने, निफ्टी भी नए शिखर पर

शेयर बाजार आज भी शानदार बढ़त के साथ बंद हुआ। बीएसई सेंसेक्स 486.81 अंक उछलकर अब तक के नये सर्वोच्च स्तर 49,269.32 और एनएसई का निफ्टी 137.50 अंक मजबूत होकर 14,484.75 अंक की रिकार्ड ऊंचाई पर बंद हुआ। सेंसेक्स पर HCL Tech सबसे अधिक लाभ देने वाला रहा, जो 6 प्रतिशत के आसपास रहा।इसके बाद इंफोसिस, HDFC, Bajaj Auto, Maruti, Tech Mahindra और M & M का स्थान रहा। दूसरी ओर, बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एलएंडटी, कोटक बैंक और एसबीआई के स्टॉक नुकसान के साथ बंद हुए।

कोरोना वैक्सीन के बूस्टर डोज से शेयर बाजार में रौनक है। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स अब अपने कदम 50000 की मंजिल की ओर बढ़ा चला है। आज यानी सोमवार को सेंसेक्स ने एक नया रिकॉर्ड कायम किया। बाजार बंद होने से पहले सेंसेक्स  49,303 के नए शिखर को छू चुका था। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 14,498 अंकों का नया रिकॉर्ड बना चुका था। वहीं अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 16 पैसे टूटकर 73.40 (अस्थायी) पर बंद हुआ।

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीतिक मामलों के प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि घरेलू शेयर बाजारों पर तेजड़िये हावी रहे और दोनों मानक सूचकांक नये रिकार्ड स्तर पर बंद हुए। टीसीएस और डी-मार्ट के बेहतर तिमाही वित्तीय परिणाम से निवेशकों का भरोसा मजबूत हुआ है।  उन्होंने कहा, ''कोविड-19 मामलों में बेहतर सुधार होने तथा 16 जनवरी से टीकाकरण प्रक्रिया शुरू किये जाने की घोषणा से बजार के लिए स्थिति संतोषजनक बनी है। पुन: कपनियों की आय के साथ प्रमुख आर्थिक आंकड़े बेहतर रहने की उम्मीद से बाजार निकट भविष्य में नई ऊंचाई छू सकता है।

मोदी ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति, केंद्रीय बैंकों के रुख और डॉलर के कमजोर होने के साथ एफपीआई (विदेशी संस्थागत निवेशक) निवेश आगे भी जारी रह सकता है।  इस बीच, शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने गत सप्ताहांत शुक्रवार को 6,029.83 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कोस्पी लाभ में रहे जबकि शंघाई कंपोजिट सूचकांक नुकसान में रहा।  यूरोप के प्रमुख शेयर बजारों में शुरूआती कारोबर में गिरावट का रुख रहा। इस बीच, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.52 प्रतिशत की गिरावट के साथ 55.14 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।

बता दें सकारात्मक वैश्विक रुझानों और भारी एफपीआई आवक के चलते प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 400 अंक से अधिक बढ़कर पहली बार 49,000 के स्तर को पार कर गया। इस दौरान सेंसेक्स ने आईटी शेयरों में तेजी के बल पर 49,260.21 के सर्वकालीन उच्च स्तर को छुआ और खबर लिखे जाने तक 405.45 अंक या 0.83 प्रतिशत बढ़कर 49,187.96 पर कारोबार कर रहा था। एनएसई निफ्टी 112.45 अंक या 0.78 प्रतिशत उछलकर 14,459.70 पर था।

कब-कब तोड़ा बाजार ने रिकॉर्ड

  • मार्च में निचले स्तर पर पहुंचने के बाद आठ अक्तूबर को सेंसेक्स 40 हजार के पार 40182 पर पहुंच गया था।
  • पांच नवंबर को सेंसेक्स 41,340 पर बंद हुआ था। 10 नवंबर को इंट्राडे में इंडेक्स का स्तर 43,227 पर पहुंचा था
  • 18 नवंबर को 44180 और चार दिसंबर को इसने 45000 का आंकड़ा पार किया।
  • नौ दिसंबर को सेंसेक्स पहली बार 46000 के ऊपर 46103.50 के स्तर पर बंद हुआ।
  • 14 दिसंबर को सेंसेक्स 46284.7 पर खुला। वहीं  21 दिसंबर को सेंसेक्स 47055.69 के स्तर पर पहुंच गया।
  • 30 दिसंबर को सेंसेक्स अब तक के सर्वोच्च स्तर 47,807.85 अंक तक चला गया था।
  • नए साल में 48 हजार का स्तर पार करते हुए सेंसेक्स बुधवार 6 दिसंबर को 48616.66 के नए शिखर पर खुला था।
  • 8 दिसंबर को सेंसेक्स  48797.97 के नए शिखर को छू लिया।
  • 11 जनवरी को सेंसेक्स एक नए शिखर  49,296.50 अंक पर पहुंच गया।

Date Open High Low Close
08-Jan-21 48,465 48,854 48,366 48782.51
06-Jan-21 48,617 48,617 47,864 48174.06
07-Jan-21 48,524.36 48,558 48,038 48093.32
05-Jan-21 48,038 48,486 47,903 48437.78
04-Jan-21 48,109 48,220 47,594 48176.8
01-Jan-21 47,785 47,980 47,771 47868.98
31-Dec-20 47,753 47,897 47,602 47751.33

 स्रोत: बीएसई

आगे कैसी रहेगी बाजार की चाल

रेलिगेयर ब्रोकिंग लि. की राय

  • अधिक खरीदारी के संकेत के बावजूद विदेशी संस्थागत निवेशकों की सतत लिवाली से बाजार लगातार नई ऊंचाई पर बना हुआ है। 
  • इस सप्ताह जारी होने वाले वृहत आर्थिक आंकड़ों के साथ कंपनियों के तिमाही परिणाम मुख्य रूप से बाजार की दिशा तय करेंगे।

 मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज का अनुमान

  • इस सप्ताह बाजार पर बहुत हद तक वैश्विक प्रवृत्ति का असर होगा। 
  • निवेशकों की परीक्षण के बाद कोविड-19 टीकाकरण अभियान व दिसंबर तिमाही के परिणाम का असर होगा
  • एक फरवरी को पेश होने वाले बजट से जुड़ी गतिविधियों पर भी नजर होगी। 
  • इस सप्ताह मुद्रास्फीति और औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े भी आने हैं।

संबंधित खबरें