DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  'विवाद से विश्वास' स्कीम के तहत 1.48 लाख मामलों का निपटारा, 54 हजार करोड़ रुपये की रिकवरी 
बिजनेस

'विवाद से विश्वास' स्कीम के तहत 1.48 लाख मामलों का निपटारा, 54 हजार करोड़ रुपये की रिकवरी 

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Tarun Singh
Wed, 07 Apr 2021 10:32 AM
'विवाद से विश्वास' स्कीम के तहत 1.48 लाख मामलों का निपटारा, 54 हजार करोड़ रुपये की रिकवरी 

टैक्स से जुड़े विवादों को निपटाने में केंद्र सरकार की विवाद से विश्वास योजना काफी कारगर साबित हुई। केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीटीटी) के चेयरमैन प्रमोद चंद्रा ने मंगलवार को बताया कि 'विवाद से विश्वास' स्कीम के तहत 1.48 लाख से मामलों का निपटारा किया गया। इस स्कीम के तहत करीब  54% पैसों रिकवरी की गई है। इस योजना की घोषणा फरवरी 2020 का बजट भाषण में केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने किया था। इसकी समय सीमा 31 मार्च तक थी। 

कंज्यूमर गुड्स, वाहन और कपड़ा उद्योग पर फिर से कोरोना की मार

प्रमोद चंद्रा ने कहा, 'योजना सफल रही है। इसके जरिए लंबित मामलों को कम करना, टैक्स पेयर्स को आराम देना और रेवन्यू जनरेट करने का लक्ष्य रखा गया था। जिसे पूरा किया गया है।'  उन्होंने कहा, 'आकलन करने पर पता चला कि विवाद ही मुकदमों के जड़ में था। लेकिन अब टेक्नोलॉजी की मदद से अब विवाद कम हो जाएंगे।'

कोरोना की दूसरी लहर से कारोबारियों को रोजाना एक हजार करोड़ का नुकसान

इस योजना के तहत 31 मार्च तक जिन लोगों ने अपनी घोषणाएं की हैं, वो 30 अप्रैल तक बिना किसी पेनाल्टी के भुगतान कर पाएंगे। आधिकारिक आंकड़ो के अनुसार सरकार को इस योजना के तहत 1,33,837 आवेदन प्राप्त हुए थे, जिसमें 1,48,690 विवाद शामिल थे। कुल विवादित राशि 1,00,437 करोड़ रुपये की थी। सरकार को इस विवादित टैक्स के खिलाफ 54,005 करोड़ रुपये मिले हैं। 

क्या 75 रुपये का चिप रोकेगा दुनिया की रफ्तार? कंपनियां दे रहीं चेतावनी

'विवाद से विश्वास' योजना के तहत विवादित टैक्स, विवादित पेनाल्टी, विवादित इंटरेस्ट रेट जैसे मामलों के निपटारे की सुविधा प्रदान करती थी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के अनुसार 31 जनवरी 2020 तक 19.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक 5.10 लाख मुकदमे लंबित थे। 

संबंधित खबरें