Sensex logs 5th straight loss plummets 324 points - बाजार में पांचवें दिन गिरावट जारी, सेंसेक्स ने लगाया 324 अंक का गोता DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाजार में पांचवें दिन गिरावट जारी, सेंसेक्स ने लगाया 324 अंक का गोता

शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला मंगलवार को पांचवें दिन भी जारी रहा। बाजार में कारोबार के अंतिम दौर में बिकवाली दबाव से बीएसई सेंसेक्स ने जहां 324 अंक का गोता लगाया वहीं नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 100 अंक से अधिक टूट गया। पिछले तीन माह के दौरान बाजार में यह सबसे ज्यादा दिन तक जारी रहने वाली गिरावट रही है। अमेरिका-चीन के बीच व्यापार तनाव जारी रहने तथा कंपनियों के तिमाही वित्तीय परिणाम फीके रहने से निवेशकों का उत्साह प्रभावित हुआ है।

घरेलू शेयर बाजारों में शुरुआती कारोबार में तेजी रही लेकिन चीन-आमेरिका-तनाव पर दिन में अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्द के बयान से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई और स्थानीय बाजार में बिकवाली दबाव बढ़ गया। लेगार्द ने कहा कि अमेरिका-चीन के बीच तनाव विश्व अर्थव्यवस्था के लिये खतरा है। अन्य कारकों में रुपये की विनिमय दर में गिरावट तथा कमजोर वैश्विक धारणा का घरेलू शेयर बाजारों पर नकारात्मक असर पड़ा।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रविवार को 200 अरब डालर मूल्य के चीनी सामान पर शुल्क बढ़ाने की घोषणा से विश्व अर्थव्यवस्था की सहेत को लेकर चिंता से वैश्विक बाजारों में गिरावट दर्ज की गयी। घरेलू बाजार में मुख्य रूप से टाटा मोटर्स, आईसीआईसीआई बैंक, भारती एयरटेल तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज में 4.60 प्रतिशत तक की गिरावट से सेंसेक्स नीचे आया।

आईसीआईसीआई बैंक तथा भारती एयरटेल के तिमाही परिणाम निवेशकों को आकर्षित करने में विफल रहे। कारोबार के दोनों कंपनियों के शेयरों में बिकवाली देखी गयी। दूसरी तरफ सेंसेक्स में शामिल शेयरों में एचयूएल, एल एंड टी, पावरग्रिड, इन्फोसिस, ओएनजीसी तथा बजाज आटो बढ़त के साथ बंद हुए।

वैश्विक बाजारों के अनुरूप 30 शेयरों वाला सूचकांक 323.71 अंक यानी 0.84 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,276.63 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान बीएसई सेंसेक्स 38,236.18 से 38,835.54 अंक के दायरे में रहा। यानी इसमें करीब 600 अंक का उतार-चढ़ाव हुआ। इसी प्रकार, एनएसई निफ्टी 100.35 अंक की गिरावट के साथ 11,497.90 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 11,484.45 से 11,657.05 अंक के दायरे में रहा। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में इस साल 19 फरवरी के बाद सबसे लंबे समय तक गिरावट दर्ज की गयी।

सेंट्रम ब्रोकिंग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष तथा शोध प्रमुख (संपत्ति) जगन्नाथम थुनूगुंटला ने कहा, ''पिछले कुछ दिनों से भारतीय बाजार कमजोर बना हुआ है। इसका कारण अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता को लेकर अनिश्चितता तथा कंपनियों के वित्तीय परिणाम उत्साहजनक नहीं रहना है।"

आईसीआईसीआई बैंक का चौथी तिमाही परिणाम उत्साहजनक नहीं रहने से कंपनी शेयर करीब 4 प्रतिशत नीचे आया। बैंक द्वारा सोमवार को घोषित वित्तीय परिणाम के अनुसार उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 2018-19 की चौथी तिमाही में 2.45 प्रतिशत बढ़कर 1,170 करोड़ रुपये रहा। भारती एयरटेल का शेयर भी मुनाफे की घोषणा के बाद करीब 3 प्रतिशत नीचे आ गया। कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच कंपनी को जनवरी-मार्च तिमाही में 107.2 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ।

इस बीच, डॉलर के मुकाबले घरेलू रुपया 3 पैसे टूटकर 69.43 पर बंद हुआ। वहीं वैश्विक मानक ब्रेंट क्रूड का भाव 0.74 प्रतिशत गिरकर 70.71 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक बढ़त में रहा। वहीं जापान तथा कोरिया के बाजार नुकसान में रहे। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरुआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sensex logs 5th straight loss plummets 324 points