ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसशिखर पर शेयर बाजार, पहली बार सेंसेक्स 62400 अंक के पार, ₹2.37 लाख करोड़ का फायदा

शिखर पर शेयर बाजार, पहली बार सेंसेक्स 62400 अंक के पार, ₹2.37 लाख करोड़ का फायदा

कारोबार के दौरान सेंसेक्स 62412 अंक तक गया। बता दें कि बीते साल 19 अक्टूबर को सेंसेक्स 62,245 अंक के स्तर तक गया था। वहीं, निफ्टी 216.85 अंक बढ़कर 18,484.10 पर पहुंच गया। 

शिखर पर शेयर बाजार, पहली बार सेंसेक्स 62400 अंक के पार, ₹2.37 लाख करोड़ का फायदा
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 24 Nov 2022 04:17 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारतीय शेयर बाजार एक बार फिर शिखर पर है। सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन यानी गुरुवार को सेंसेक्स 762.10 अंक चढ़कर 62,272.68 के सर्वकालिक उच्च स्तर पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सेंसेक्स 62412 अंक तक गया। बता दें कि बीते साल 19 अक्टूबर को सेंसेक्स 62,245 अंक के स्तर तक गया था। वहीं, निफ्टी 216.85 अंक बढ़कर 18,484.10 पर पहुंच गया। 

निवेशकों को कितना फायदा: शेयर बाजार में आई तेजी की वजह से निवेशकों को 2.37 लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ है। गुरुवार को बीएसई मार्केट कैप 2,83,69,988.02 करोड़ रुपये था। एक दिन पहले के मार्केट कैप 2,81,44,318.63 करोड़ के मुकाबले 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की तेजी है।

आईटी शेयर में तेजी: बीएसई इंडेक्स पर आईटी सेक्टर के स्टॉक में सबसे ज्यादा तेजी रही। बीएसई टॉप 30 शेयर की बात करें तो इंफोसिस, एचसीएल, विप्रो, टेक महिंद्रा, टीसीएस में सबसे ज्यादा तेजी रही। पावरग्रिड, एचडीएफसी, एचयूएल, एचडीएफसी बैंक, सनफार्मा के शेयर भी तेजी रही।

क्या है तेजी की वजह: दरअसल, भारत समेत दुनियाभर में इकोनॉमी पर मंदी के साये की आशंका दूर होती दिख रही है। बीते दिनों अमेरिका के सेंट्रल बैंक फेड रिजर्व ने नरमी दिखाने की बात कही थी। इसके बाद से ही भारत समेत दुनियाभर के बाजार का कॉन्फिडेंस थोड़ा मजबूत हुआ है।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा- व्यापक आधार पर खरीदारी की वजह से घरेलू सूचकांकों में ठोस बढ़त देखी गई। फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) की बैठक का भी असर दिख रहा है। वहीं, डॉलर की व्यापक कमजोरी के बीच रुपये में भी तेजी आई। भारतीय मुद्रा अपने पिछले बंद 81.84 के मुकाबले 81.63 प्रति डॉलर पर बंद हुई। इंडिया बॉन्ड यील्ड में भी गिरावट आई है।

epaper