DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Share Market: सेंसेक्स 489 अंकों की बढ़त के साथ हुआ बंद 

The BSE Sensex and NSE’s Nifty 50 traded higher. Photo: Mint

वैश्विक बाजारो से मिले सकारात्मक संकेत और घरेलू स्तर पर सरकार के कृषि सहित विभिन्न क्षेत्रों आने वाले वर्षों में भारी निवेश करने की घोषणा से उत्साहित निवेशकों की लिवाली के बल पर गुरूवार को शेयर बाजार में तूफानी तेजी रही। इस दौरान बीएसई का सेंसेक्स 489 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 140 अंक उछलकर बंद हुआ। 

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 488.89 अंक उछलकर 39601.63 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 140.30 अंक चढ़कर 11831.75 अंक पर पहुंच गया। इस दौरान छोटी और मझौली कंपनियों में भी लिवाली का जोर रहा जिससे बीएसई का मिडकैप 1.64 प्रतिशत चढ़कर 14680.10 अंक पर और स्मॉलकैप 1.05 प्रतिशत बढ़कर 14064.86 अंक पर रहा। 

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार तनाव को कम करने की दिशा में वातार् करने की संभावना बढ़ने से वैश्विक बाजार में तेजी रही। घरेलू स्तर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के दोनों सदनों के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुये अगले कुछ वर्षों में देश में भारी निवेश किये जाने की उम्मीद जतायी। उन्होंने कृषि क्षेत्र में 25 लाख करोड़ रुपये निवेश किये जाने के साथ ही कर सरलीकरण पर भी जोर दिया जिससे निवेशधारणा मजबूत हुयी और शेयर बाजार में भारी उछाल आया। 
बीएसई का सेंसेक्स 70 अंकों की गिरावट लेकर 39042.96 अंक पर खुला। शुरूआती चरण में यह 38933.78 अंक तक फिसला लेकिन इसके बाद शुरू हुयी लिवाली का जोर अंत तक बना रहा। इस दौरान सत्र के अंतिम चरण में यह 39638.64 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा। अंत में यह पिछले दिवस के 39112.74 अंक की तुलना में 1.25 प्रतिशत अथार्त 488.89 अंक चमककर 39601.63 अंक पर रहा। 

एनएसई का निफ्टी 38 अंकों की गिरावट लेकर 11653.65 अंक पर खुला। इसके तुरंत बाद यह 11635.05 अंक के निचले स्तर तक लुढ़क गया। इसके बाद शुरू हुयी लिवाली के जोर से यह 11843.50 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा। अंत में यह पिछले सत्र के 11691.45 अंक की तुलना में 140.30 अंक अथार्त 1.20 अंक बढ़कर 11831.75 अंक पर रहा। निफ्टी में शामिल 50 कंपनियों में से 42 हरे  निशान में जबकि सात लाल निशान में बंद हुयी। उतार चढ़ाव के बीच एक कंपनी पिछले दिवस के स्तर पर टिकी  रही। 

बीएसई के सभी समूह हरे निशान में रहे। सबसे अधिक ऑटो में 2.46 प्रतिशत की बढोतरी हुयी। इसके साथ ही हेल्थकेयर 2.27 प्रतिशत, सीजी 2.36 प्रतिशत, टेलीकॉम 2.11 प्रतिशत, सीडी 2.08 प्रतिशत, धातु 1.89 प्रतिशत, रियलटी 1.92 प्रतिशत, एनर्जी 1.41 प्रतिशत, तेल एवं गैस 1.35 प्रतिशत इंडस्ट्रीयल 1.87 प्रतिशत और आईटी 0.28 प्रतिशत शामिल है। 

ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने के फैसले के बाद रुपये पर भारी असर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sensex closed on green sign on Thursday