DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीनियर सिटीजन इलाज पर हुए खर्च पर ले सकते हैं टैक्स छूट, जानें कैसे

tax planning

सीनियर सिटीजन अपने इलाज पर हुए खर्च पर टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं। अगर उन्होंने कोई भीहेल्थ इंश्योरेंस या मेडिक्लेम पॉलिसी नहीं ली है और इलाज का पूरा खर्च स्वयं वहन किया है तो भी टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं। चार्टर्ड एकाउंटेंट के सी गोदुका ने टैक्सपेयर्स के टैक्स छूट और निवेश से जुड़े सवालों का जवाब दिया।

सवाल - मैं एक सरकारी कर्मचारी हूं। मैंने कोई हेल्थ इंश्योरेंस नहीं लिया लेकिन मेरी बीमारी के इलाज कराने पर व्यय हुआ है। क्या मैं आयकर की धारा 80डी के तहत आयकर छूट प्राप्त कर सकता हूं? शिवांगी रिंगोला
जवाब - जी हां। अगर आपकी आयु 60 साल या इससे अधिक है तो आप यह लाभ बिना हेल्थ इंश्योरेंस के कर निर्धारण वर्ष 2019-20 के तहत आयकर की धारा 80डी में ले सकती है। अगर आयु कम है तो फिर यह लाभ प्राप्त नहीं होगा। इसमें अधिकतम छूट 50 हजार रुपये तक की प्राप्त हो सकती है। 

सवाल - मैं झारखंड राज्य में कर्मचारी हूं। मेरा योगदान वर्ष 2015 एनपीएस की दायरे में है। वित्त वर्ष 2018-19 में मैंने जीवन बीमा तथा सुकन्या समृद्धि में कुल 150,000 रुपये जमा किए है। एनपीएस में कूल कटौती 570,00 रुपये हुई है। क्या मुझे आयकर की धारा 80सी के तहत 150,000 रुपये तथा 80सीसीडी(1बी) के तहत 50,000 रुपये की छूट प्राप्त होगी। सुब्रत घोष, धनबाद
जवाब - जी हां। आप 80 सी के तहत 150,000 रुपये तथा 80सीसीडी(1बी) के तहत 50,000 रुपये की छूट प्राप्त कर सकते हैं।  

 

होम लोन पर पा सकते हैं 4 लाख रुपए तक की टैक्स छूट, जानें कैसे

सवाल - मैं एक निजी कंपनी में 12 हजार रुपये मासिक वेतन पर कार्य कर रहा हूं। मैंने बीमा कम्पनी से एक पॉलिसी ली है जिसकी सालाना किश्त 5500 रुपये है। मैंने एक पॉलिसी अपनी बेटी की ली है जिसका प्रीमियम 2000 रुपये तीन माह में देने होते हैं। क्या मुझे आयकर रिटर्न भरना होगा?  मोनु, वाराणसी.
जवाब - आपकी आय न्यूनतम कर योग्य आय 250,000 रुपये से कम है अत: आपको आयकर विवरणी जमा करने की आवश्यकता नहीं है। 

सवाल - मैं दिल्ली में एक निजी बैंक में कार्य करता हूं। मैंने एक मकान लिया है जो मेरी पत्नी के साथ संयुक्त मालिकाना हक में है। इस मकान को मैंने किराये पर दिया है। क्या प्राप्त किराये को मैं अपनी पत्नी जो की एक हाउस वाइफ है की आय मान सकता हूं। प्रफुल्ल कुमार, दिल्ली
जवाब - जी नहीं। जब मकान संयुक्त नाम से है तो फिर प्राप्त किराये की आय की भी दोनों की आय में ही आनुपातिक रूप से दिखाना चाहिए। 

बिना हेल्थ इंश्योरेंस के भी इलाज पर हुए खर्च पर उठा सकते हैं टैक्स छूट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:senior citizen can get tax benefit on hospital bills