Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Sebi returns ipo papers of gretex share broking what is mean know here - Business News India

इस शेयर ब्रोकिंग कंपनी को झटका, सेबी ने लौटाए IPO के डॉक्युमेंट

Gretex Share Broking IPO: सेबी की वेबसाइट पर मंगलवार को बताया गया कि उसने 25 जनवरी को कंपनी के आईपीओ दस्तावेज लौटा दिए। बाजार नियामक ने हालांकि इसका कोई कारण नहीं बताया है।

Deepak Kumar लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीTue, 30 Jan 2024 05:22 PM
हमें फॉलो करें

Gretex Share Broking IPO: शेयर बाजार नियामक सेबी ने ग्रेटेक्स शेयर ब्रोकिंग के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) दस्तावेज लौटा दिए हैं। इससे कंपनी के आईपीओ में देरी हो सकती है। प्रस्तावित आईपीओ में 1.67 करोड़ नए इक्विटी शेयर जारी किए जाने थे और साथ ही इसमें 30.96 लाख शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) भी शामिल थी। आईपीओ से जुटाए गए पैसे का इस्तेमाल कैपिटल जरूरतों और सामान्य कंपनी कामकाज के लिए किया जाना था।

दिसंबर 2023 में जमा किए थे दस्तावेज
कंपनी ने दिसंबर, 2023 में भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आईपीओ दस्तावेज जमा कराए थे। सेबी की वेबसाइट पर मंगलवार को बताया गया कि उसने 25 जनवरी को कंपनी के आईपीओ दस्तावेज लौटा दिए। बाजार नियामक ने हालांकि इसका कोई कारण नहीं बताया है। इससे पहले सेबी ने इसी महीने स्टैलियन इंडिया फ्लूरोकेमिकल्स के आईपीओ दस्तावेज भी लौटा दिए थे।

कंपनी के बारे में: ग्रेटेक्स शेयर ब्रोकिंग लिमिटेड की वेबसाइट के मुताबिक कंपनी 29 अप्रैल 2010 को वजूद में आई। कंपनी सेबी रजिस्टर्ड मार्केट निर्माता और बीएसई रजिस्टर्ड स्टॉक ब्रोकर है। 

बीएलएस ई-सर्विसेज के आईपीओ की डिटेल
इस बीच, बीएलएस ई-सर्विसेज लिमिटेड का आईपीओ मंगलवार को खुल गया। इस आईपीओ के कुछ ही मिनट के भीतर फुल सब्सक्रिप्शन मिल गया। एनएसई पर सुबह 11 बजकर 57 मिनट पर मौजूद आंकड़ों के अनुसार 311 करोड़ रुपये के आईपीओ को 1,37,02,904 शेयरों के मुकाबले 5,83,39,440 बोलियां मिलीं जो 4.26 गुना सब्सक्रिप्शन में तब्दील हो गईं। आईपीओ में 2,30,30,000 तक के ताजा शेयर शामिल हैं। इसका इश्यू प्राइस 129-135 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है। बीएलएस ई-सर्विसेज लिमिटेड ने सोमवार को एंकर निवेशकों से 126 करोड़ रुपये जुटाए थे।

बता दें कि अप्रैल 2016 में यह कंपनी स्थापित हुई। यह कंपनी डिजिटल सर्विस प्रोवाइडर है, जो भारत के प्रमुख बैंकों को बिजनेस कॉरेस्पोंडेंस सर्विस, असिस्टेड ई सर्विसेज और ग्रासरूट लेवल पर ई-गवर्नेंस सर्विस प्रोवाइड करती है। यह BLS इंटरनेशनल सर्विसेज लिमिटेड की सहायक कंपनी है। 

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें