ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessSebi bans 9 entities from securities market for 2 yrs for flouting investment advisory rules Business News India

निवेश सलाहकार नियमों में की गड़बड़ी, SEBI ने 9 कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध

शेयर बाजार को रेग्युलेट करने वाली सेबी के आदेश के मुताबिक, संस्थाओं को उनकी गैर-पंजीकृत निवेश सलाहकार गतिविधियों के संबंध में ग्राहकों से शुल्क के रूप में 810.24 लाख रुपये प्राप्त हुए।

निवेश सलाहकार नियमों में की गड़बड़ी, SEBI ने 9 कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध
Deepak Kumarएजेंसी,नई दिल्लीWed, 29 Nov 2023 09:51 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 9 इकाइयों को सिक्योरिटी मार्केट से कम-से-कम दो साल के लिए प्रतिबंधित करने के साथ ही उन्हें अन-रजिस्टर्ड निवेश सलाहकार सेवाओं के माध्यम से जुटाए गए 8 करोड़ रुपये तीन महीने के भीतर निवेशकों को लौटाने का निर्देश दिया है। बाजार नियामक ने इन पर कुल 18 लाख रुपये का जुर्माना लगाकर 45 दिन के अंदर इसका भुगतान करने को भी कहा है।
     
किस-किस पर एक्शन: सिक्योरिटी मार्केट से प्रतिबंधित की गई इकाइयों में योगेश कुकड़िया, राजेश आर कल्लिडुम्बिल, नितिन राज, सिग्नल2नॉएज कैपिटल पार्टनर्स, इन्वेस्टो इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स, एसएस इन्फो सेल, एसआई डिजी सेल्स, सीटी वेब सेल्स और एमएल टेली सेल्स शामिल हैं। इसके अलावा योगेश, राजेश और नितिन को किसी भी सूचीबद्ध कंपनी में निदेशक या प्रमुख प्रबंधकीय के तौर पर जुड़ने से भी दो साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।

सेबी ने अपनी जांच में पाया कि निवेश सलाहकार के रूप में पंजीकृत योगेश और राजेश ने छह ऐसी साझेदारी फर्मों के माध्यम से निवेश सलाहकार कार्य किया था जो सेबी के साथ रजिस्टर्ड नहीं थीं। नियामक ने इस बारे में कुछ शिकायतें मिलने के बाद अप्रैल, 2018 से सितंबर, 2019 की अवधि के लिए योगेश और राजेश की सलाहकार गतिविधियों का निरीक्षण किया।

सेबी के आदेश के मुताबिक, संस्थाओं को उनकी गैर-पंजीकृत निवेश सलाहकार गतिविधियों के संबंध में ग्राहकों से शुल्क के रूप में 810.24 लाख रुपये प्राप्त हुए। यह राशि 4,536 ग्राहकों से छह ऐसी साझेदारी फर्मों के माध्यम से निवेश सलाह प्रदान करने के लिए जुटाई गई थी, जो सेबी के साथ रजिस्टर्ड नहीं थीं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें