ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessSBI made changes in loan related rules customers will be affected from today Business News India

SBI ने लोन से जुड़े नियम में किए बदलाव, ग्राहकों पर पड़ेगा बड़ा असर

SBI Loan: देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) के मॉर्जिनल कॉस्ट में बदलाव किया है।

SBI ने लोन से जुड़े नियम में किए बदलाव, ग्राहकों पर पड़ेगा बड़ा असर
Varsha Pathakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 15 Nov 2023 02:06 PM
ऐप पर पढ़ें

SBI Loan: देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) के मॉर्जिनल कॉस्ट में बदलाव किया है। ओवरनाइट, एक महीने, तीन महीने और छह महीने के एमसीएलआर क्रमशः 8 फीसदी, 8.15 फीसदी और 8.45 फीसदी हैं। इसी तरह, एक साल की एमसीएलआर 8.55% है, जबकि दो साल की एमसीएलआर 8.65 है, तीन साल की एमसीएलआर 8.75% है। 

एसबीआई की एमसीएलआर 
ओवरनाइट: 8 प्रतिशत
एक महीना: 8.15 प्रतिशत
तीन महीना: 8.15 प्रतिशत
छह महीना:  8.45 प्रतिशत
एक वर्ष: 8.55 प्रतिशत
दो वर्ष: 8.65 प्रतिशत
तीन वर्ष: 8.75 प्रतिशत

यह भी पढ़ें- ₹300 के पार लिस्ट हुआ यह IPO, पहले ही दिन मुनाफा, निवेशक गदगद    

एमसीएलआर क्या है?
यह वह न्यूनतम दर है जिस पर बैंक अपने ग्राहकों को लोन दे सकते हैं। बेंचमार्क एक-वर्षीय एमसीएलआर का इस्तेमाल ऑटो, पर्सनल और होम जैसे लोन की ब्याज दर निर्धारित करने के लिए किया जाता है।

IPO ने दिया झटका: लिस्ट होते ही शेयर को बेचने की मच गई होड़, ₹72 पर आया भाव, निवेशक मायूस

बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक एसेट, डिपॉजिट, ब्रांच, ग्राहक और कर्मचारियों के मामले में सबसे बड़ा बैंक है। बैंक का होम लोन पोर्टफोलियो 6.53 लाख करोड़ रुपये से अधिक है। होम लोन और ऑटो लोन में एसबीआई की बाजार हिस्सेदारी क्रमशः 33.4% और 19.5% है। एसबीआई के पास भारत में 22,405 ब्रांच और 65,627 एटीएम का बड़ा नेटवर्क है। इसके ग्राहकों की संख्या 44 करोड़ से भी ज्यादा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें