DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1 जुलाई से बदल सकते हैं बैंकों से जुड़े ये नियम, लाखों लोगों को होगा फायदा

bank photo livemint

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पैसे ट्रांसफर के लिए आरटीजीएस (RTGS) और एनईएफटी (NEFT) चार्ज हटाने के लिए बैंकों को आदेश दिया है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने 1 जुलाई से बैंकों को नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) सिस्टम और रियल-टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) सिस्टम शुल्क वापस लेने का निर्देश दिया है। यानी अब 1 जुलाई से ग्राहकों को कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। 

भारतीय रिजर्व बैंक ने बीते दिनों डिजिटल लेन-देन को मजबूत बनाने के इरादे से आरटीजीएस और नेफ्ट के जरिये धन अंतरण (लेन-देन) के लिए बैंकों पर लगने वाले शुल्क समाप्त करने की घोषणा की थी और बैंकों को इसका लाभ ग्राहकों को देने को कहा था।

उम्मीद है कि जल्द ही बैंक इन दोनों माध्यमों से पैसा भेजने पर लगनने वाले शुल्क को खत्म कर देंगे। दो लाख रुपये से अधिक की राशि तत्काल दूसरे के खाते में भेजने के लिए आरटीजीएस का उपयोग किया जाता है। 2 लाख रुपये तक की राशि भेजने में के लिए एनईएफटी है।

एसबीआई में एनईएफटी पर शुल्क 
राशि                        इंटरनेट बैंकिंग शुल्क     बैंक ब्रांच से लगने वाला शुल्क
10,000 रुपये                1 रुपये और जीएसटी     2.50 रुपये और जीएसटी  
10 हजार से एक लाख         2 रुपये और जीएसटी     5 रुपये और जीएसटी 
एक लाख से दो लाख तक      3 रुपये और जीएसटी     15 रुपये और जीएसटी 
2 लाख रुपये से ऊपर          5 रुपये और जीएसटी     25 रुपये और जीएसटी 

एसबीआई में आरटीजीएस पर शुल्क 
2 लाख से 5 लाख रुपये तक         5 रुपये और जीएसटी     25 रुपये और जीएसटी 
5 लाख रुपये से ऊपर              10 रुपये और जीएसटी     50 रुपये और जीएसटी 

आरटीजीएस से पैसा भेजने का समय 
सोमवार से शुक्रवार         सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक
शनिवार                  सुबह 8 बजे से 2 बजे तक 

एनईएफटी से पैसा भेजने का समय 
सोमवार से शुक्रवार        सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक
शनिवार                 सुबह 8 बजे से 1 बजे तक 

क्या है आरटीजीएस? 
आरटीजीएस ऑनलाइन पैसा भेजने का एक माध्यम है। इसके तहत पैसा फौरन दूसरे खाते में ट्रांसफर किया जाता है। आरटीजीएस का इस्तेमाल बड़े रकम को भेजने के लिए किया जाता है। इससे न्यूनतम दो लाख रुपये ही भेजा जा सकता है। पैसा भेजन के 30 मिनट के भीतर बैंक को इसे निर्देशित खाते में ट्रांसफर करना होता है। 

क्या है एनईएफटी
एनईएफटी भी एक ऑनलाइनभुगतान प्रणाली है जो एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को पैसा भेजने की सुविधा प्रदान करती है। एनईएफटी के माध्यम से आम ग्राहक या कंपनियां किसी दूसरी ब्रांच या किसी दूसरे शहर की शाखा में किसी भी व्यक्ति या संगठन अथवा कंपनी को पैसा भेज सकते हैं। कारोबारी दिन के समय फंड ट्रांसफर करने के दो घंटे के भीतर राशि दूसरे के खाते में जमा हो जाती है।

Jio का शानदार ऑफर, 198 रुपये के रिचार्ज में मिलेंगे ये फायदे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:RTGS and NEFT rules will chance from 1st July