ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessRelief on inflation front decline in wholesale inflation for the sixth consecutive month

थोक मुद्रास्फीति लगातार छठे महीने शून्य से नीचे, सितंबर में -0.26 फीसद पर आई

WPI September 2023: भारत में थोक मुद्रास्फीति में लगातार छठे महीने निगेटिव यानी शूनय से नीचे रही है। सरकार द्वारा आज जारी आंकड़ों के मुताबिक सितंबर में थोक महंगाई में 0.26 प्रतिशत की गिरावट आई है।

थोक मुद्रास्फीति लगातार छठे महीने शून्य से नीचे, सितंबर में -0.26 फीसद पर आई
Drigraj Madheshiaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 16 Oct 2023 01:40 PM
ऐप पर पढ़ें

महंगाई के मोर्चे पर एक बार फिर राहत मिली है। भारत में थोक मुद्रास्फीति में लगातार छठे महीने गिरावट दर्ज की गई है। सिंतबर में यह शून्य से 0.26 प्रतिशत नीचे रही है। सोमवार यानी आज जारी आंकड़ों में इसका खुलासा हुआ है। अगस्त महीने में थोक महंगाई -0.52 फीसदी पर पहुंच गई थी। यानी इस बार थोक महंगाई में 0.26 फीसद का इजाफा हुआ है।

रॉयटर्स द्वारा सर्वेक्षण किए गए अर्थशास्त्रियों ने अनुमान लगाया था कि सितंबर के लिए थोक मूल्य सूचकांक 0.5 फीसद बढ़ेगा। वाणिज्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "सितंबर, 2023 में अपस्फीति मुख्य रूप से पिछले वर्ष के इसी महीने की तुलना में रासायनिक और रासायनिक उत्पादों, खनिज तेल, कपड़ा, बुनियादी धातुओं और खाद्य उत्पादों की कीमतों में गिरावट के कारण है।"

पिछले सप्ताह जारी किए गए आंकड़ों से पता चला है कि सब्जियों की कीमतों में नरमी के कारण भारत में खुदरा मुद्रास्फीति सितंबर में तीन महीने के निचले स्तर 5.02 फीसद पर आ गई, लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक के टॉलरेंस बैंड औसत 4 फीसद से ऊपर रही।

जुलाई और अगस्त में क्रमश: 8.24 और 6.34 फीसद तक बढ़ने के बाद सितंबर में 3.70 फीसद की दर के साथ प्राथमिक स्तर पर मुद्रास्फीति में कमी जारी रही। ईंधन और बिजली मुद्रास्फीति जुलाई और अगस्त में क्रमशः 12.73 फीसद और 6.03 फीसद बढ़ने के बाद घटकर 3.35 फीसद हो गई। जुलाई और अगस्त में 2.58 फीसद और 2.37 फीसद की गिरावट के बाद मैन्यूफैक्चर्ड प्रोडक्ट की कीमतें 1.34 फीसद गिर गईं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें