ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessRelief from inflation Wholesale inflation came down to 0 point 27 percent in January

महंगाई से राहत: थोक मुद्रास्फीति जनवरी में घटकर 0.27 फीसद पर आई

WPI: महंगाई के मोर्चे पर रहातभरी खबर है। खाने-पीने की चीजों की कीमतों में नरमी की वजह से थोक मुद्रास्फीति जनवरी में घटकर 0.27 फीसद पर आ गई है। दिसंबर 2023 में यह 0.73 फीसद थी।

महंगाई से राहत: थोक मुद्रास्फीति जनवरी में घटकर 0.27 फीसद पर आई
Drigraj Madheshiaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 14 Feb 2024 01:14 PM
ऐप पर पढ़ें

महंगाई के मोर्चे पर रहातभरी खबर है। खाने-पीने की चीजों की कीमतों में नरमी की वजह से थोक मुद्रास्फीति जनवरी में घटकर 0.27 फीसद पर आ गई है। दिसंबर 2023 में यह 0.73 फीसद थी। थोक मूल्य सूचकांक (WPI) आधारित मुद्रास्फीति अप्रैल से अक्टूबर तक लगातार शून्य से नीचे बनी हुई थी। नवंबर में यह 0.39 फीसद दर्ज की गई थी।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा, '' थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित मुद्रास्फीति जनवरी में लिए 0.27 फीसद (अस्थायी) रही।'' थोक मुद्रास्फीति जनवरी 2023 में 4.8 फीसद थी।

आंकड़ों के अनुसार, जनवरी 2024 में खाद्य सामग्री की महंगाई दर 6.85 फीसद रही जो दिसंबर 2023 में 9.38 फीसद थी। जनवरी में सब्जियों की महंगाई दर 19.71 फीसद, जो दिसंबर 2023 में 26.3 फीसद रही थी। जनवरी में दालों में थोक मुद्रास्फीति 16.06 फीसद थी, जबकि फलों में यह 1.01 फीसद रही।

इससे पहले  सोमवार को रिटेल इन्फ्लेशन के आंकड़े जारी हुए थे। इसके मुताबिक जनवरी में खुदरा मुद्रास्फीति 5.1% पर रही। यह इसका तीन महीने का निचला स्तर है। दिसंबर महीने में यह 5.69% के साथ 4 महीने के उच्च स्तर पर थी। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित मुद्रास्फीति एक साल पहले समान अवधि में 6.52% थी। अगस्त 2023 में यह 6.83% के उच्चस्तर पर पहुंच गई थी। भारतीय रिजर्व बैंक को खुदरा मुद्रास्फीति को 2 % घट-बढ़ के साथ  4% पर रखने की जिम्मेदारी मिली हुई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें