Reliance Jio says it will increase mobile phone tariffs in next few weeks - Jio ग्राहकों के लिए बुरी खबर, कंपनी ने कॉल रेट को लेकर किया ये बड़ा ऐलान DA Image
9 दिसंबर, 2019|8:14|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Jio ग्राहकों के लिए बुरी खबर, कंपनी ने कॉल रेट को लेकर किया ये बड़ा ऐलान

jio giga fiber

आने वाले दिनों में रिलायंस जियो (Reliance Jio) के ग्राहकों के लिए बात करना महंगा हो जाएगा। जियो ने आज कहा है कि वह अगले कुछ सप्ताह में मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाएगी। कंपनी की तरफ से ये बयान एक दिन के बाद आया जब वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल ने 1 दिसंबर से टैरिफ बढ़ाने के लिए कहा है। 

दूरसंचार क्षेत्र में गलाकाट प्रतिस्पर्धा के बीच एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के बाद रिलायंस जियो ने भी मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाने की घोषणा की है। कंपनियों का यह निर्णय आम उपभोक्तओं की जेब पर भारी पड़ सकता है जबकि जियो ने कहा है कि वह दर में वृद्धि इस तरह करेगी ताकि डेटा उपभोग पर प्रतिकूल असर न पड़े।

फिलहाल सबसे सस्ती दरों पर सेवाएं दे रही रिलायंस जियो ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि वह अगले कुछ सप्ताह में मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाने वाली है। एक ही दिन पहले सोमवार को भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने कहा था कि वे दिसंबर से मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाने वाली हैं। जियो ने कहा कि भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) मोबाइल सेवाओं की दरों में संशोधन पर संभवत: परामर्श की शुरुआत करने वाला है।
 

हालांकि इस बीच ट्राई से जुड़े सूत्रों ने कहा कि नियामक अभी दूरसंचार कंपनियों द्वारा शुल्क वृद्धि को अमल में लाने का इंतजार करेगा। नियामक उसके बाद इसकी समीक्षा करेगा कि शुल्क वृद्धि नियामकीय दायरे में है या नहीं। कंपनी ने बयान में कहा कि अन्य कंपनियों की तरह हम भी सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे। हम उद्योग जगत को मजबूत कर उपभोक्ताओं को लाभ देने के लिये नियामकीय व्यवस्था का अनुपालन करेंगे। हम अगले कुछ सप्ताह में शुल्क बढ़ाने समेत अन्य कदम इस तरह उठायेंगे कि इसका डेटा के उपभोग या डिजिटलीकरण पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े तथा निवेश भी मजबूत बना रहे।

वोडाफोन-आइडिया या एयरटेल मोबाइल कंपनियों ने सोमवार को यह घोषणा की थी कि एक दिसंबर-2019 से मोबाइल पर बात करने के लिए ज्यादा खर्च करना होगा। वित्तीय संकट के मद्देनजर वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल ने एक दिसंबर से मोबाइल सेवा की दरें बढ़ाने का फैसला किया है। हालांकि, दोनों कंपनियों ने फिलहाल शुल्क में प्रस्तावित वृद्धि से जुड़ी जानकारी नहीं दी है। 

गौरतलब है कि वोडाफोन-आइडिया को चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 50,922 करोड़ रुपये का एकीकृत घाटा हुआ है।  किसी भारतीय कंपनी का एक तिमाही में यह अब तक का सबसे बड़ा नुकसान है। एयरटेल को चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 23,045 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया है। 
    
रिलायंस 9.5 लाख करोड़ रुपये पूंजी वाली देश की पहली कंपनी बनी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Reliance Jio says it will increase mobile phone tariffs in next few weeks