Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Recruitment started again in startups after retrenchment PwC byjus Physicswala and Zomato opened doors

छंटनी के बाद फिर शुरू हुई स्टार्टअप में भर्तियां, पीडब्ल्यूसी, बायूज, फिजिक्सवाला और जोमैटो ने खोले द्वार

इस साल 50 हजार से अधिक भर्तियां होने का अनुमान। 10 हजार भर्तियों की तैयारी कर रही बायजू। 2.5 हजार नई भर्तियों का ऐलान फिजिक्सवाला ने किया है। देश में 90 हजार स्टार्टअप हैं, कुल पूंजीकरण 30 अरब डॉलर है

Drigraj Madheshia नई दिल्ली। हिन्दुस्तान ब्यूरो, Tue, 7 Feb 2023 05:43 AM
पर्सनल लोन

पिछले तीन-चार माह में बड़ी संख्या में कर्मचारियों की छंटने करने वाले स्टार्टअप अब भारी संख्या में भर्तियां करने की तैयारी कर रहे हैं। उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि स्टार्टअप नई प्रतिभाओं की तलाश में रहते हैं और इसलिए नए लोगों को काम पर रख रहे हैं। जो स्टार्टअप बड़ी संख्या में भर्तियों की योजना बना रहे हैं उनमें बायूज, फिजिक्सवाला, और जोमैटो है।

छंटनी ट्रैकिंग साइट लेऑफ डॉट फाई के अनुसार, जनवरी के पहले कुछ हफ्तों में लगभग 101 टेक फर्मों ने वैश्विक स्तर पर 25,436 कर्मचारियों को निकाल दिया था। वहीं टेक उद्योग और स्टार्टअप ने मिलकर पिछले साल भारत में 17,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी की थी। इसमें कहा गया है कि स्टार्टअप निरंतर अंतराल पर कर्मचारियों को छंटनी और बहाली करते रहते हैं। इसकी वजह से उनमें उथलपुथल ज्यादा होती है।

जोमैटो ने हाल ही में 100 से अधिक कर्मचारियों को निकाल दिया था, लेकिन वह नई भूमिकाओं के लिए 800 लोगों की भर्ती कर रही है। कार्स 24, जिसने पिछले साल 600 कर्मचारियों को निकाला था, उसने घोषणा की है कि वह 500 पदों पर नई भर्तियों के लिए लोगों की तलाश कर रही है। बायजू, जिसने पिछले एक साल में 3,500 से अधिक नौकरियों को समाप्त किया है, अपनी 50 हजार लोगों की टीम में 10 हजार और लोगों को नियुक्त करने की योजना बना रहा है।

वेतन कम मांग रहे

विशेषज्ञ कर्मचारियों की भर्ती में मदद करने वाली कंपनी एक्सफेनो के सह-संस्थापक कमल कारंत के मुताबिक, स्टार्टअप जॉब मार्केट का बुरा दौर काफी हद तक खत्म होता दिख रहा है। उनका कहना है कि उम्मीदवार अब 50 से 60 फीसदी वेतनवृद्धि के लिए सहमति देते दिख रहे हैं , जबकि पहले उन्होंने वही दोगुनी यानी 100 वेतन वृद्धि की मांग कर रहे थे। इससे जॉब ऑफर स्वीकार करने की दर भी 50 फीसदी से बढ़कर 70 फीसदी हो गई है।

कंपनियों की ऐसे उम्मीदवारों पर नजर

सीआईईएल एचआर सर्विसेज के सीईओ और एमडी आदित्य मिश्रा का कहना है कि नए जमाने की कंपनियां कुशल प्रतिभा और अत्यधिक उत्पादक लोगों की तलाश में हैं जो बदलाव को जल्दी से अपना सकें और कंपनी को आगे रख सकें। सीआईईएल व् हाल ही में शीर्ष 60 स्टार्टअप में काम कर रहे 60 हजीर से अधिक कर्मचारियों का सर्वेक्षण किया करने के बाद यह निष्कर्ष पेश किया है।

पीडब्ल्यूसी 30 हजार भर्तियां करेगी

पीडब्ल्यूसी यानी प्राइसवाटरहाउसकूपर ने अगले पांच वर्षों में भारत में 30,000 नई नौकरियों का सृजन करने की योजना की घोषणा की है क्योंकि यह भारत में अपनी उपस्थिति का निर्माण जारी रखे हुए है, संभावित रूप से 2028 तक कर्मचारियों की संख्या 80,000 से अधिक हो जाएगी। यह पीडब्ल्यूसी इंडिया और पीडब्ल्यूसी यूएस के बीच भारत में नए वैश्विक केंद्र स्थापित करने और मौजूदा लोगों को बढ़ाने के लिए एक संयुक्त उद्यम की स्थापना के बाद है जो फर्म को विकास में तेजी लाने और सेवा की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करेगा। फर्म वर्तमान में अपने भारतीय अभ्यास के बीच भारत में 50,000 से अधिक कर्मचारियों को रोजगार देती है।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें