DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  बैंकों के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकेंगे
बिजनेस

बैंकों के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकेंगे

एजेंसी,मुंबईPublished By: Rakesh
Tue, 25 Jun 2019 04:56 AM
बैंकों के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकेंगे

भारतीय रिजर्व बैंक ने सोमवार को बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराने ओर समय से उनका निवारण करने के लिए एक एप्लीकेशन पेश की। केंद्रीय बैंक की वेबसाइट पर उसने शिकायत प्रबंधन प्रणाली (सीएमएस) को शुरू किया। 

यहां उसके द्वारा नियमन किए जाने वाले किसी भी वाणिज्य बैंक, शहरी सहकारी बैंक और एनबीएफसी के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज करायी जा सकती है। इस प्रणाली पर दर्ज करायी जाने वाली शिकायत को उपयुक्त लोकपाल या रिजर्व बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय को भेज दिया जाएगा।

सीएमएस को डेस्कटॉप और मोबाइल दोनों पर इस्तेमाल किया जा सकता है। रिजर्व बैंक की योजना इसे जल्द ही एक प्रतिबद्ध आईवीआर (इंटरएक्टिव वायस रिस्पांस) प्रणाली से जोड़ने की भी है ताकि शिकायत की स्थिति को देखा जा सके।

राष्ट्रीयकृत बैंकों ने 8,582 लोगों को घोषित किया इरादतन चूककर्ता
वहीं दूसरी ओर, सरकार ने सोमवार को बताया कि राष्ट्रीय बैंकों ने वित्त वर्ष में 2018-19 के दौरान कुल 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया। लोकसभा में कुंवर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल और श्रीरंग अप्पा बारणे के प्रश्नों के लिखित उत्तर में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि 31 मार्च, 2019 तक राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा 8,121 मामलों में वूसली के लिए मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं।

उन्होंने सदन के समक्ष राष्ट्रीयकृत बैंकों के लिए इरादतन चूककर्ताओं से संबंधित आंकड़े पेश किए। इसके मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में 8,582 लोगों को इरादतन चूककर्ता घोषित किया गया। इसके साथ ही 2017-18 में 7,535 और 7,079 को चूककर्ता घोषित किया गया।

संबंधित खबरें