ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessRBI imposes monetary penalty on four cooperative banks cancels licence of another Business News India

इस बैंक का लाइसेंस रद्द, RBI ने की बड़ी कार्रवाई, ग्राहकों पर भी पड़ेगा असर?

रिजर्व बैंक ने जमा खातों के मेंटेनेंस से जुड़े निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए राजर्षि शाहू सहकारी बैंक लिमिटेड पर जुर्माना लगाया है।

इस बैंक का लाइसेंस रद्द, RBI ने की बड़ी कार्रवाई, ग्राहकों पर भी पड़ेगा असर?
Varsha Pathakमिंट,नई दिल्लीThu, 07 Dec 2023 08:07 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रेगुलेटरी नियमों में कमियों के लिए चार सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाया है। ये सहकारी बैंक हैं- राजर्षि शाहू सहकारी बैंक लिमिटेड, द प्राथमिक शिक्षक सहकारी बैंक लिमिटेड, पाटन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड और द डिस्ट्रिक्ट को-ऑपरेटिव सेंट्रल बैंक लिमिटेड। इसके अलावा आरबीआई ने एक सहकारी बैंक का लाइसेंस भी रद्द कर दिया है। लाइसेंस रद्द करने के पीछे वजह  है कि बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं हैं। हालांकि, ग्राहकों पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। 

क्या है डिटेल 
रिजर्व बैंक ने जमा खातों के मेंटेनेंस से जुड़े निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए राजर्षि शाहू सहकारी बैंक लिमिटेड पर जुर्माना लगाया है। यह बैंक पुणे, महाराष्ट्र में स्थित है और इस पर ₹1 लाख का जुर्माना लगा है। आरबीआई ने कहा कि राजर्षि शाहू सहकारी बैंक ने सेविंग बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस के मेंटेनेंस में कमी के लिए नियमों के तहत जुर्माना नहीं लगाया था। इसके अलावा आरबीआई ने पाटन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड और द प्राथमिक शिक्षक सहकारी बैंक लिमिटेड पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। इसके अलावा आरबीआई ने द डिस्ट्रिक्ट को-ऑपरेटिव सेंट्रल बैंक लिमिटेड पर 10,000 रुपये तक का जुर्माना लगाया है। 

यह भी पढ़ें- इस छोटी कंपनी पर गुजरात सरकार फिदा, दिया ₹101 करोड़ का काम, शेयरों में तेजी 

इस बैंक का लाइसेंस रद्द
रिजर्व बैंक ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के सीतापुर स्थित अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड का लाइसेंस रद्द कर दिया। बैंक को 7 दिसंबर, 2023 को कारोबार बंद होने से कोई भी बैंकिंग व्यवसाय नहीं करने को कहा। बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 तत्काल प्रभाव से, रिजर्व बैंक ने कहा,  अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, सीतापुर, उत्तर प्रदेश को 'बैंकिंग' का व्यवसाय करने से प्रतिबंधित किया गया है। इसमें  जमा स्वीकार करना और जमा का पुनर्भुगतान शामिल है।