DA Image
18 सितम्बर, 2020|8:34|IST

अगली स्टोरी

बिना इंटरनेट के भी कर पाएंगे डिजिटल पेमेंट, RBI जल्द शुरू करेगा पायलट प्रोजेक्ट

digital payment increased during lockdown  file pic

रिजर्व बैंक ने बृहस्पतिवार को पायलट आधार परऑफलाइन’ यानी बिना इंटरनेट के कार्ड और मोबाइल के जरिये खुदरा भुगतान योजना की घोषणा की। इस पहल का मकसद उन जगहों पर भी डिजिटल लेन-देन के लिये ग्राहकों को प्रोत्साहित करना है, जहां इंटरनेट कनेक्टविवटी कम है।

ऑफलाइन’ खुदरा भुगतान योजना

रिजर्व बैंक ने 'विकासात्मक और नियामकीय नीतियों पर बयान में कहा कि केंद्रीय बैंक इकाइयों को ऑफलाइन पेमेंट करने की सुविधा को बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करता रहा है। इसीलिए पायलट योजना के तहत उपयोगकर्ताओं के हितों, देनदारी सुरक्षा आदि का ध्यान रखते हुए  ऑफलाइन माध्यम से अंतर्निहित सुविधाओं के साथ छोटी राशि के भुगतान की अनुमति देने का प्रस्ताव है।

छोटे शहरों के लोगों को होगा फायदा

केंद्रीय बैंक ने कहा कि पायलट योजना से प्राप्त अनुभव के आधार पर योजना लागू करने को लेकर विस्तृत दिशानिर्देश जारी किये जाएंगे। आरबीआई ने कहा कि खासकर दूरदराज के क्षेत्रों में इंटरनेट का अभाव या उसकी कम गति डिजिटल भुगतान के रास्ते में बड़ी बाधा है। इसको देखते हुए कार्ड, वॉलेट और मोबाइल उपकरणों के माध्यम से ऑफलाइन भुगतान का विकल्प उपलब्ध कराया जा रहा है। उम्मीद है कि इससे डिजिटल भुगतान को और बढ़ावा मिलेगा।

डिजिटल लेन-देन शिकायतों का समाधान होगा पारदर्शी

केंद्रीय बैंक ने यह भी कहा कि 'पेमेंट सिस्टम ऑपरेटर (पीएसओ) को ऑनलाइन विवाद समाधान (ओडीआर) लागू करना होगा। डिजिटल लेन-देन बढ़ने के साथ विवाद और शिकायतें भी बढ़ी हैं। शिकायतों के समाधान की यह व्यवस्था नियम आधारित और पारदर्शी होगी। इसमें मानवीय हस्तक्षेप नहीं होगा या अगर होगा भी तो बहुत कम। इस पहल का मकसद विवादों और शिकायतों का समय पर और प्रभावी तरीके से निपटान करना है।

(इन्पुट - एजेंसी)

गोल्ड ज्वैलरी पर मिलेगा ज्यादा लोन, RBI ने बदले नियम

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:RBI bank will allow offline payment facility on the card on pilot basis